indian economy

पिछले कुछ वर्षों में बांग्लादेश की अर्थव्यवस्था निरंतर आगे बढ़ती रही है। 2019 में वह 8.2 बढ़ी थी। इस वर्ष भी बांग्ला अर्थव्यवस्था 3.8 प्रतिशत बढ़ेगी जबकि भारतीय अर्थ व्यवस्था 10.3 प्रतिशत घटेगी।

महामारी की वजह से नीचे गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर बड़ी जानकारी सामने आई है। बड़ी खबर ये है कि जापान को पीछे छोड़ते हुए भारतीय अर्थव्यवस्था साल 2050 यानी 30 साल बाद दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगी।

राहुल गांधी का एक नया वीडियो सामने आया जिसमें राहुल गांधी ने केंद्र की राजग सरकार के जीएसटी को असंगठित क्षेत्र की अर्थव्‍यवस्‍था पर आक्रमण बताया है।

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) के मुताबिक पहली तिमाही के दौरान कृषि को छोड़कर बाकी सभी क्षेत्रों में भारी गिरावट दर्ज की गई।

जुलाई में आठ इंफ्रास्ट्रक्चर (आठ कोर) सेक्टर्स के उत्पादन में भारी मंदी दर्ज की गई है। सरकारी आंकड़ों से मिली जानकारी से पता चला कि जुलाई महीने में देश के आठ कोर सेक्टर के उत्पादन में 9.6 फीसद की गिरावट रही है।

देश की अर्थव्यवस्था  कोरोना वायरस की वजह से डगमगाने  लगी तो इसको बचाने के लिए सरकार ने मई के दूसरे सप्ताह में 20 लाख करोड़ रुपये के आत्मनिर्भर  पैकेज की घोषणा की थी।  लेकिन इससे हालात में सुधार होंगे ये जरूरी  नहीं है।

विश्व की तीन बड़ी क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों में शामिल फिच रेटिंग्स ने अपनी ताजा रिपोर्ट में कहा है कि भारतीय अर्थव्यवस्था अगले वित्त वर्ष यानी के 2021-22 में 9.5 फीसदी की दर से बढ़ने की उम्मीद है।

पूर्व गवर्नर जालान ने मोदी सरकार के कोरोना वायरस से प्रभावित हुई अर्थव्यवस्था को सुदृढ बनाने के लिए उठाए गए क़दमों को काफी सकारात्मक करार दिया है।

दुनिया के चर्चित रेटिंग एजेंसी मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस का मानना है कि इस आर्थिक पैकेज से कोविड-19 का नकारात्मक असर पूरी तरह खत्म नहीं होगा।