indian railway

रेलवे ने कहा है, “किसी भी फूड कॉन्ट्रैक्टर पर खाना नहीं परोसने की स्थिति में फाइन नहीं लागाया जाए और उचित बकाया का हिसाब चुकता कर/यदि कोई है, तो सिक्योरिटी डिपॉजिट और पूरी एडवांस फीस भी वापस कर दें।”

इस बढ़ती महंगाई में रेलवे ने भी रेल यात्रियों के लिए मुश्किलें बढ़ा दी हैं। भारतीय रेलवे ने कम दूरी की ट्रेनों का किराया बढ़ा दिया है।

गोरखपुर से मुंबई के लिए रवाना होने वाली पहली कुशीनगर एक्सप्रेस ट्रेन पूर्वोत्तर रेलवे की हो गई है। पूर्वोत्तर रेलवे के खाते में आने के साथ ही ट्रेन को न सिर्फ सुपरफास्ट का दर्जा मिल गया, बल्कि इसका किराया भी बढ़ गया है।

घटना में ट्रेन के 39 डिब्बे पटरी से उतर गए और क्षतिग्रस्त हो गए। बताया जा रहा है कि यह घटना शुक्रवार की दोपहर को हुई जिसमें एक मालगाड़ी भीलवाड़ा के पास पलट गई है। इस हादसे में करीब 39 डिब्बे क्षतिग्रस्त हुए हैं।

इंडियन रेलवे ने लॉकडाउन के बाद से किसी रेग्युलर ट्रेनों का परिचालन नहीं किया। सभी ट्रेनें स्पेशल ही चलाई जा रही हैं। वही रेलवे ने गुरूवार को 6 और स्पेशल ट्रेनें पटरी पर उतारने का फैसला लिया है।

अधिकारियों ने जानकारी देते हुए कहा है, "रेलवे बोर्ड की अनुमति मिलने के बाद इन ट्रेनों को चलाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। फिलहाल इन्हें एक्सप्रेस ट्रेन का दर्जा दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक, नए सभी स्लीपर कोच की डिजाइनें भारतीय रेलवे के प्रोडक्शन यूनिट चेन्नई के इंट्रीगल कोच फैक्ट्री (Internal coach factory) और रायबरेली के मॉर्डन कोच फैक्ट्री (Modern Coach Factory) में बनाई जाएगी।

कोरोना के वर्तमान स्थिति के मद्देनजर रेलवे 100 प्रतिशत ट्रेनों को चलाने की तैयारी कर रहा है। प्रधानमंत्री कार्यालय(पीएमओ) जल्द ही इसे हरी झंडी दे सकता है।

भारतीय रेलवे ने इस नए कोच में सभी यात्रियों का ध्यान रखा गया है। इस कोच में कई फोल्डिंग टेबल दी गई है। यात्रियों के लिए मोबाइल चार्जिंग के लिए चार्जिंग पॉइंट की सुविधा दी जा रही है। इसके साथ पढ़ने वाले लोगों के लिए रीडिंग लाइट्स की भी व्यवस्था की गई है।

IRCTC ने बताया, “नए शेड्यूल के साथ रेल मंत्रालय से मंजूरी मिलने के बाद ट्रेनों का संचालन फिर से शुरू किया जा रहा है, जबकि इस ट्रेन की हफ्ते में चार दिनों शुक्रवार, शनिवार, रविवार और सोमवार के लिए सभी सीटों की टिकट बुकिंग की जाएगी।”