Indian Railways

रेलवे स्टेशनों पर अव्यवस्था, प्लेटफार्मों से लेकर ट्रेनों तक में भीड़, गंदगी, रेलकर्मियों द्वारा घूसखोरी, कामचोरी, दुर्घटनाएं, ट्रेनों की लेटलतीफी वगैरह तरह-तरह की शिकायतें आम हैं। मोदी सरकार रेलवे में बदलाव के रास्ते पर तेजी से काम कर रही है और जल्द ही बड़े बदलाव नजर भी आएंगे।

मिली जानकारी के अनुसार, रेलवे में अभी 13 लाख कर्मचारी हैं। ऐसे में मंत्रालय इस संख्या में कटौती करना चाहता है। इसलिए अगले साल तक काफी कर्मचारियों को नमस्ते कर दिया जाएगा।

देश की सबसे तेज गति से चलने वाली गाड़ी ‘वन्दे भारत’ एक्सप्रेस ट्रेन अपने दूसरे ट्रायल में गुरुवार को दिल्ली से चलकर कानपुर सेन्ट्रल पहुंची। इस बार पूर्व की अपेक्षा गाड़ी में यात्रियों के लिए अधिक सुविधाओं की व्यवस्था की गई थी। पहले ट्रायल के बाद बीते दिनों ‘वन्दे भारत’ एक्सप्रेस ट्रेन में खराब खाने को लेकर हंगामा हुआ था जिसको रेलवे मंत्रालय ने गंभीरता से लिया।

सोनिया गांधी ने मोदी सरकार को सलाह देते हुए कहा कि, ‘रायबरेली की सार्वजनिक संपत्तियों की सरकार पूरी रक्षा करे। रायबरेली की रेल कोच फैक्ट्री देश की सबसे आधुनिक फैक्ट्रियों में से एक है और पूर्व की सरकारों ने इसे आगे ले जाने के लिए काफी काम किया। स्थानीय लोगों के रोजगार के लिए भी यह रेल फैक्ट्री महत्वपूर्ण है।

ट्रेन संख्या 12004 स्वर्ण शताब्दी एक्सप्रेस का जो दिल्ली से चलकर रोजाना 12 बजकर 36 मिनट पर चारबाग रेलवे जंक्सन पहुंचती है। ट्रेन अपने तय समय पर चारबाग जंक्सन पहुंचती है तो चीफ टिकट इंस्पेक्टर एसएन मीणा को बोगी में एक छूटा बैग मिलता है।

वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक जगतोष शुक्ल ने गुरुवार को बताया कि लखनऊ-वाराणसी रेलखंड पर 20 मई के बाद 15 ट्रेनों को इलेक्ट्रिक इंजन से चलाया जाएगा। इसके लिए तैयारियां तेजी से चल रही है। उन्होंने बताया कि लखनऊ के उतरेटिया से श्रीराजनगर तक रेल विद्युतीकरण के साथ दोहरीकरण का काम पूरा हो गया है।

रेल मंत्रालय ने आरटीआई के तहत पूछे गये एक सवाल के जबाव में कहा है कि पिछले चार वर्षों में रेल यात्रियों से जबरन पैसे वसूली को लेकर 73,000 से अधिक, यानि हर दिन औसतन 50 ट्रांसजेंडरों को गिरफ्तार किया गया। सिर्फ पिछले साल ही 20,000 से ज्यादा ट्रांसजेंडरों को गिरफ्तार किया गया।

मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी (सीपीआरओ) दीपक कुमार ने बताया कि लखनऊ-वाराणसी रेलखंड पर नॉन इंटरलॉकिंग कार्यों की वजह से दिल्ली, हावड़ा व देहरादून जाने वाली 55 से अधिक ट्रेनों को रेल प्रशासन ने निरस्त कर दिया था। इन ट्रेनों में से 20 से अधिक ट्रेनों को बुधवार से बहाल कर दिया गया है।

काठगोदाम शताब्दी एक्सप्रेस में यात्रा कर रहे एक यात्री द्वारा पेपर कप की तस्वीर के साथ किया गया ट्वीट वायरल होने पर रेलवे ने कहा कि उसने कप हटा लिए हैं और ठेकेदार को दंडित किया है।

 रेलवे ने परिचालन कारणों के कारण रविवार को 338 ट्रेन रद्द की हैं। रद्द की गई गाड़ियों में पैसेंजर, एक्सप्रेस के साथ ही स्पेशल ट्रेन शामिल हैं। इसके साथ ही देश के कई रेलवे जोन में ट्रैफिक ब्लॉक लिए गए हैं। गाड़ियों के बेहतर परिचालन के लिए इन गाड़ियों को रद्द किया गया है।