Indian Railways

लॉकडाउन के तीसरे फेज के अंत में आखिर रेलवे ने 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय ले ही लिया। इसमें देश की राजधानी दिल्ली सहित कई शहरों...

लॉकडाउन की वजह से करीब ढाई महीने बाद मंगलवार से फिर से ट्रेन सेवा शुरू हो रही है। अब लॉकडाउन में धीरे-धीरे छूट दी जा रही है। इसी के तहत...

12 मई से यात्रियों के लिए ट्रेने चलाई जायेगी। हालाँकि शुरुआत में आंशिक रेल सेवा यानी कम संख्या में ट्रेनें चलाई जाएंगी।

भारतीय रेलवे ने गत एक मई से 350 श्रमिक विशेष रेलगाड़ियां संचालित की है और कोरोना वायरस से निपटने के लिए लगाये गये लॉकडाउन के कारण देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे 3.6 लाख से अधिक प्रवासियों को उनके गृह राज्य पहुंचाया है।

कोरना के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन लगाया गया था जिसकी वजह से काफी मजदूर फंसे रह गए थे अब इन फंसे मजदूरों की घर वापसी हो रही है, वहीं रेल किराया चुकाने को लेकर राजनीतिक दलों की बयानबाजी भी चरम पर है।

लॉकडाउन के दौरान जरूरत के सामानों की कमी न हो, इसके लिए उत्तर रेलवे 10 पार्सल ट्रेनों की समयावधि बढ़ा दी है। इस कदम से जरूरी सामानों...

मोदी सरकार के कैबिनेट सेक्रेटरी राजीव गौबा और रेलवे बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारियों की बुधवार को बैठक होनी है। इस बैठक में ट्रेनें कब से शुरू होंगी, इस पर चर्चा होनी है। ये बैठक लॉकडाउन के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है।

भारतीय रेलवे ने कोविड संकट के प्रसार से निपटने के लिए अपनी रेलगाड़ियों को आइसोलेशन वार्ड में बदल दिया।

कोरोना वायरस से निपटने के लिए सरकार ने लॉकडाउन किया है जिसकी वजह से रेलवे को भारी घाटा उठाना पड़ रहा है। अब इस घाटे से निपटाने के लिए रेल मंत्रालय 13 लाख से अधिक अधिकारियों और कर्मचारियों की सैलरी और भत्ते में कटौती की योजना तैयार कर रहा है।

भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने आज 167 साल पूरे कर लिए हैं। आज ही के दिन 16 अप्रैल, 1853 में भारत की पहली पैसेंजर ट्रेन चली थी।