indian soldiers

मिली जानकारी के अनुसार, वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर ज्यादातर भारतीय जवान ऊंचाई वाले स्थानों पर ड्यूटी कर चुके हैं। चीनी सेना के समक्ष इस वक्त वो भारतीय सेना है, जो पहले से ही लद्दाख में ड्यूटी कर चुके हैं। बता दें कि ड्रैगन ने अपने सीमावर्ती क्षेत्रों में अपने हजारों चीनी सैनिकों को तैनात किया है, जहां का तापमान माइनस 30 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा हुआ है।

बुधवार देर रात से ही पाकिस्तान की ओर से जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा स्थित नौगाम सेक्टर और पुंछ जिले के केजी सेक्टर में भीषण गोलाबारी की जा रही है। पाकिस्तान की ओर से फायरिंग के बाद इस इलाके में भारी तनाव का माहौल बना हुआ है।

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अपनी सेना को अब युद्ध के लिए तैयार रहने को कह दिया है। ऐसे में सूत्रों से जानकारी मिली है कि चीन के गुआंगडोंग इलाके में एक सैन्य अड्डे के दौरे के दौरान शी जिनपिंग ने ये बात अपनी सेना से कही है।

बीते कई महीनों से भारत और चीन के बीच बॉर्डर भूमि विवाद के चलते तनातनी बनी हुई है। ऐसे में बीते दिनों लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल(LAC) पर चीनी सैनिकों की तरफ से घुसपैठ की कोशिशें की गई थी, जिसमें भारतीय सेना के जवानों में मुहंतोड़ जवाब देते हुए खदेड़ दिया।

भारत और चीन के विदेश मंत्रियों के मध्य मॉस्को में बैठक हुई है। ऐसे में ध्यान दिया जाए तो चीन भारत के साथ बैठक, बातचीत कर रहा है, पर वहीं दूसरी तरफ चीन की सेना पैंगोंग इलाके में अपनी मुस्तैदी को बढ़ाने के साथ-साथ सैनिकों और सैन्य ताकत को भी बढ़ाती जा रही है।

भारत और चीन के बीच सीमा पर सोमवार को हुई ताजा फायरिंग की घटना के बाद से हालात और भी ज्यादा तनावपूर्ण हो गये हैं। चीन का आरोप है कि भारतीय सेना ने जानबूझकर उकसावे के लिए एलएसी पर गोलीबारी की है।

भारतीय सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच उत्तरी कश्मीर में कुपवाड़ा जिले के वारनो इलाके में ताबड़तोड़ गोलाबारी जारी है। शनिवार यानी आज घाटी में देश के जवान आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं। दोपहर से मुठभेड़ जारी है।

भारतीय सेना को लद्दाख की ठंड में डीजल जमने से होने वाली समस्या से निजात दिलाने के लिए देश की सबसे बड़ी तेल कपंनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन एक ख़ास डीजल उपलब्ध कराने वाली है। इस ख़ास डीजल का नाम है, 'विंटर डीजल'।

गलवान घाटी में अभी तक हालात सामान्य नहीं हुए हैं। भारत-चीन के बीच 15 जून को हुई हिंसक झड़प से आज तक एक हफ्ते से ज्यादा होने को आया है। फिलहाल इस मुद्दे को सुलझाने की लगातार कोशिशे जारी हैं।

लद्दाख में गलवान घाटी में 15 जून को भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई हिसंक झड़प में हमारे 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। वहीं चीन की तरफ भी इस झड़प में काफी नुकसान हुआ है।