indian students

उत्तर प्रदेश के मेरठ मंडल के सैंकड़ो छात्र यूक्रेन के लवीव शहर में फंस गए हैं। यह सभी छात्र वहाँ पढ़ाई कर रहे हैं। हॉस्टल व फ्लैट में बंद इन छात्रों ने भारतीय दूतावास से वतन वापसी की गुहार लगाई लेकिन मदद नहीं मिली हैं।

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए लॉकडाउन तो कर दिया गया है, लेकिन भारत के उन बच्चों का क्या जो अच्छी पढ़ाई करने के लिए देश के कुछ अच्छा करने के लिए विदेशों में पढ़ाई कर रहें हैं,और इन भयावह हालातों में फंसे हुए हैं।

साल 2018-19 में भारत से अमेरिका पढ़ने गए स्टूडेंट्स की कुल संख्या 2 लाख से ज्यादा रही। अगर दुनियाभर की बात करें तो लगभग 10 लाख से अधिक स्टूडेंट्स अमेरिका पढ़ाई के लिए पहुंचे।

एक अमेरिकी अदालत ने भारतीयों को वीजा पॉलिसी में राहत देने का आदेश दिया है। यह आदेश यूनाइटेड स्टेट्स सिटीज़नशिप और इमिग्रेशन सर्विसेज (USCIS) को वह प्रतिकूल नीति लागू करने से रोकता है जिसके तहत अंतरराष्ट्रीय छात्रों (उनके डिपेन्डेन्ट्स जैसे पति/पत्नी और बच्चे भी) के वहां रहने को 'गैरकानूनी उपस्थिति' करार दिया जाता है।

भारत में इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स के लिए लंदन से एक अच्छी खबर सामने आई है। बर्मिंघम यूनिवर्सिटी 3 हफ्ते की ऑनलाइन फ्री ट्रेनिंग की शुरुआत करने जा रहा है। लेकिन खास बात यह है कि यह ट्रेनिंग भारतीय छात्रों के लिए होगी। जिससे देश के हजारों छात्र अपनी टेक्निकल इंग्लिश लैंग्वेज स्किल में सुधार कर सकते हैं।

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के एक स्टूडेंट जैस फ्रेजर ने आईआईटी जेईई के क्वेशन को 100 पर्सेंट सॉल्व कर दिया, जिससे भारतीय छात्रों के गुस्से का शिकार होना पड़ा। ये सब कब से शुरू हुआ यह किसी को पता नहीं चला।

उत्तराखंड की यूनिवर्सिटी ऑफ पेट्रोलियम एंड एनर्जी स्टडीज (UPES) के स्टूडेंट्स ने भारत का नाम रोशन किया है। इस साल टेक्सेस, यूएस में एयरोस्पेस कॉपिटिशन आयोजित हुई थी। जिसमें भारतीय छात्रों की टीम ने इस साल पहली पोजिशन प्राप्त की है।

विदेश से MBBS करने की इच्छा रखने वाले भारतीय स्टूडेंट्स को भी जल्द ही मेडिकल के नेशनल एलिजिबिलटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) से गुजरना पड़ेगा। इस टेस्ट में निर्धारित न्यूनतम अंक प्राप्त करने पर ही कैंडिडेट्स को विदेशी इंस्टीट्यूट से मेडिकल की पढ़ाई करने की अनुमति दी जाएगी। इसका उद्देश्य पैसे और संपर्कों के दम पर विदेशी संस्थानों से मेडिकल की डिग्री प्राप्त करने वालों पर लगाम लगाना है।