iran

दिवाली का त्योहार नजदीक आ चुका हैं। यह त्योहार पूरे भारतवर्ष में बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता हैं। लेकिन दिवाली का यह त्योहार भारत के साथ कई दुसरे देशों में भी बनाया जाता हैं। अन्य देशों में भी अपनी मान्यताओं के अनुसार दिवाली का त्योहार मनाया जाता हैं और उनका अलग नाम दिया गया हैं।

ईरान में इंस्टाग्राम सेलिब्रिटी को कॉस्मेटिक सर्जरी करना महंगा पड़ा गया। उसको पुलिस ने इसके गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा उसका चेहरा भी बिगड़ गया है। सोशल मीडिया स्टार सहर तबर को तेहरान की एक अदालत ने हिरासत में लेने का आदेश दिया था।

उन्होंने कहा कि तेल के दाम में नरमी और घरेलू शेयर बाजार में आई तेजी से भारतीय करेंसी रुपये में भी डॉलर के मुकाबले मजबूती आई है, जिससे तेल के आयात बिल में कमी आएगी। ऐसे में कयास लगाये जा रहे हैं कि अब पेट्रोल और डीजल के दामों में तेजी से कमी देखने को मिल सकती है।

ईरान की संसद ने मानवता, स्त्री अधिकारों और बच्चों के अधिकारों के मुंह पर तमाचा मारते हुए एक बिल पास किया है, जिसके मुताबिक कोई भी पुरुष अपनी गोद ली हुई बेटी से शादी कर सकता है।

लंदन: सऊदी अरब के तेल ठिकानों पर ड्रोन हमलों के लिये ब्रिटेन, जर्मनी और फ्रांस ने भी ईरान को जिम्मेदार ठहराया है। संयुक्त राष्ट्र आम सभा के लिए न्यूयॉर्क पहुंचे यूरोपीय नेताओं ने ईरान के मसले पर अलग से मुलाकात की और एक संयुक्त बयान जारी किया जिसमें कहा गया है कि ‘अब वक्त आ …

बताया जा रहा है कि इस हमले के बाद अमेरिका ने ईरान को जिम्मेदार ठहराया था। ड्रोन हमले के संदर्भ में पेंटागन प्रमुख ने कहा था कि जून में अमेरिकी स्पाई ड्रोन पर हमला, ब्रिटेन के तल टैंकर को जब्त किया जाना और सऊदी के दो प्रतिष्ठानों पर हमला नाटकीय रूप से ईरान की बढ़ी हुए आक्रमकता

बता दें कि ईरान ने यह बयान उन रिपोर्टो के संदर्भ में दिया है जिसमें बताया जा रहा है कि अमेरिका सऊदी के तेल प्रतिष्ठनों पर हमले के जवाब में सैन्य विकल्प तलाश रहा है। हालांकि तेल प्रतिष्ठानों पर हमले का जिम्मेदार तेहरान को माना जा रहा है।

सऊदी अरब के तेल ठिकानों पर ड्रोन हमले के बाद अमेरिका एक्शन में है। हमले के लिए ईरान को कसूरवार ठहरा चुके अमेरिका ने अब ईरान पर कड़े प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है, साथ ही उस इलाके में सेना की तैनाती को भी मंजूरी दे दी गई है।

ईरान के सर्वोच्च नेता अली खामनेई ने ईरान किसी भी स्तर पर अमेरिका के साथ बातचीत नहीं करेगा। ईरानी नेता खामनेई ने सोशल मीडिया पर बयान जारी कर कहा कि ईरान पर दवाब बनाने की अमेरिकी नीति का कोई फायदा नहीं होगा।

सऊदी अरब की सबसे बड़ी तेल कंपनी अराम्को की रिफाइनरी पर यमनी फोर्सेज के 10 ड्रोन से हमले से तेल की मंडी में हाहाकार मच गया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अमेरिका के आरक्षित तेल के भंडार को बाजार में लाने का आदेश दिया है ताकि विश्व स्तर पर तेल की कीमत नियंत्रित रहे।