iran

ईरान से तनाव के बीच इजरायल ने अपने ऊपर होने वाले किसी भी संभावित हमले से बचने के लिए एक उन्नत आयरन डॉम वायु रक्षक तंत्र के परीक्षण की सीरीज को सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है जिससे देश के एयर डिफेंस को मजबूती मिलेगी।

दिल्ली: अमेरिका-ईरान के बीच अगर जंग होती है तो दोनों ही देशों को इसके बुरे परिणाम झेलने होंगे। हालाँकि कि अमेरिका ईरान की तुलना में ज्यादा शक्तिशाली देश हैं लेकिन ईरान की स्थित भी कमजोर नहीं है। इसकी कई वजह है। अमेरिका तक भले ही ईरानी मिसाइल न पहुंच सके लेकिन बदला लेने के लिए …

देर रात इराक में अमेरिकी एयरबेस पर हुए हमले के बीच अमेरिका ने ईरान को एकबार फिर चेतावनी दी। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने रविवार को कहा कि ईरानी सरकार प्रदर्शनकारियों की सामूहिक हत्‍या की हिमाकत नहीं करें।

अमेरिका और ईरान तनाव के बीच रविवार को इराक में अमेरिकी एयरबेस पर रॉकेट दागे जाने की खबर है। न्यूज एजेंसी पीटीआई ने एएफपी के सूत्रों के हवाले से कहा है कि इराक में अमेरिकी एयरबेस को निशाना बनाते हुए चार रॉकेट दागे गए हैं।

तेहरान में दुर्घटनागस्त हुए यूक्रेन के विमान को गलती से मार गिराए जाने की बात ईरान ने कबूल कर ली है। ईरान ने कहा कि मानवीय गलती के कारण ऐसे हुआ है। 8 जनवरी को हुए इस हादसे में 176 लोगों की मौत हो गई थी।

अमेरिका-ईरान विवाद को लेकर अमेरिकी सदन ने जंग रोकने के पक्ष में प्रस्ताव पारित किया, जिसके बाद राष्ट्रपति ट्रंप के हाथ बंध गये, लेकिन ट्रंप ने अटैक करने का नया तरीका ढूढ़ निकाला।

अमेरिकी कांग्रेस के निचले सदन ‘हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स’ से ईरान के खिलाफ सैन्य कार्रवाई के लिए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के अधिकार सीमित करने का 'वॉर पावर्स' प्रस्ताव पारित हो गया है।

ईरानी सेनापति कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद अमेरिका और ईरान के बीच युद्ध छिड़ जाने की जो आशंका थी, वह अभी तक आशंका ही है, यह संतोष का विषय है।

अमेरिका ने ईरान के जनरल को मार कर भले ही दोनों देशों के बीच तनाव को बढ़ा दिया हो लेकिन अब डोनाल्ड ट्रंप चाह कर भी जंग के बारे में नहीं सोच सकते। दरअसल, अमेरिकी कांग्रेस (US Congress) के निचले सदन (हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स) में जंग को रोकने के लिए प्रस्ताव पारित हुआ।