irctc

केंद्र की कैटरिंग एण्ड टूरिज्म कार्पोरेशन में बिक्री पेशकश के माध्यम से अपनी 15 से 20 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की योजना है। इस खबर के बीच IRCTC के शेयर चार प्रतिशत तक लुढ़क गए हैं। बु

प्रबल (पैसेंजर रिकॉर्ड एनलाइसिस फॉर एक्शन एगेंस्ट बरगलरी) के जरिये नकली एजेंट ही नहीं, बल्कि व्यक्तिगत यूजर आईडी से टिकट का धंधा करने वाले भी पकड़े जा रहे हैं। आरपीएफ और आरपीएफ डिटेक्टिव विंग टीम ने एक दुकानदार पकड़ लिया।

 केंद्र की मोदी सरकार अब भारतीय रेलवे के आईआरसीटीसी का निजीकरण (IRCTC disinvestment) करने की तैयारी में है। सरकार IRCTC में अपनी और हिस्सेदारी बेच सकती है।

बताते हैं कि अभी रेल कर्मचारियों को रिजर्वेशन कराने के लिए कार्मिक विभाग के पास सेक्शन से जारी पेपर वाले पास के सहारे पेपर टिकट लेना पड़ता है।

भारतीय रेलवे लगातार यात्रियों की सुविधा के लिए बड़े कदम उठा रहा है। अब रेलवे ने ऐसा प्लान तैयार किया है जिससे यात्रियों को आसानी से कन्फर्म टिकट मिल सकेगा।

IRCTC ने अपने 500 से ज्यादा कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है। आईआरसीटीसी ने बताया कि मौजूदा हालातों में इन कर्मचारियों की विभाग को जरूरत नहीं है।

इन दिनों देश दुनिया में हर तरफ कोरोना का कहर है। लोग इससे बचने के लिए घरों में रहना ही पसंद करते हैं। ऐसे में लोग मनोरंजन के अलग-अलग तरीके अपना रहे हैं। क्योंकि इन दिनों टीवी पर पुराने शो आ रहे है तो मल्टीप्लेक्स बंद है।

श्रमिकों को अपने गंतव्य तक पहुंचाने हेतु नियमित रूप से श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है। इसी क्रम में आज झांसी से गोरखपुर, छपरा तथा दीन दयाल उपाध्याय जं. एक – एक तथा तथा ललितपुर से गोरखपुर से एक ट्रेन का संचालन किया जा रहा है।

झाँसी मंडल सिविल प्रशासन के सहयोग से श्रमिकों को अपने गंतव्य तक पहुंचाने हेतु नियमित रूप से श्रमिक स्पेशल ट्रेन का संचालन किया जा रहा है। झाँसी मंडल द्वारा प्रथम श्रमिक स्पेशल ट्रेन का संचालन 11 मई को किया गया।

लॉकडाउन के चलते लगभग 50 दिन बंद रही ट्रेनों का संचालन मंगलवार यानि आज 12 मई से शुरू कर दिया गया है। आज से 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों का संचालन शुरू किया गया।