jammu kashmir

दिल्ली. राहुल गांधी श्रीनगर से लौटते समय जिस फ्लाइट से आ रहे थे, उसे दिल्‍ली एयरपोर्ट पर लैंड करने से ठीक पहले एक बार फिर उड़ान भरनी पड़ी. फ्लाइट को काफी देर तक हवा में ही घुमाना पड़ा। घाटी के हालात का जायजा लेने जा रहे थे राहुल…. गोएयर की फ्लाइट में राहुल गांधी के …

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से अब वहां की स्थिति सामान्य होता देख प्रशासन ने ज्यादातर स्थानों पर लैंडलाइन टेलीफोन सेवाएं बहाल कर दी हैं। इसके साथ ही अधिकारियों ने बताया कि घाटी के अधिकतर इलाकों में लैंडलाइन टेलीफोन सेवाएं बहाल कर दी गई हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी G-7 बैठक के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाक़ात कर सकते हैं। इस दौरान दोनों नेता कश्मीर मुद्दे पर खुलकर चर्चा भी कर सकते हैं। इसके अलावा दोनों नेता व्यापार पर बातचीत कर सकते हैं।

शनिवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी विपक्ष के 12 नेताओं के साथ श्रीनगर पहुंचे थे। हालांकि, प्रशासन ने उनको एयरपोर्ट से ही वापस लौटा दिया गया। राहुल के साथ सीपीआई, डीएमके, एनसीपी, जेडीएस, आरजेडी और तृणमूल के नेता श्रीनगर पहुंचे थे।

पीएम मोदी ने इंटरव्यू के दौरान आर्थिक मंदी पर भी बातचीत की और कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था की बुनियाद मजबूत है। ऐसे में आने वाले पांच सालों में केंद्र सरकार ने 5 ट्रिलियन डॉलर इकॉनमी बनने का लक्ष्य रखा है। मालूम हो, केंद्र की मोदी सरकार आर्थिक मंदी से निपटने के लिए अपना नया प्लान तैयार कर चुकी है।

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटने के बाद से पाकिस्तान गुस्से में है और उल्टी-सीधी बयानबाजी कर रहा है। भारत के खिलाफ अपना अभियान जारी रखते हुए पीएम इमरान खान ने 23 अगस्त शुक्रवार को आरोप लगाया कि कश्मीर की स्थिति से ध्यान भटकाने के लिए भारत 'फॉल्स फ्लैग' अभियान शुरू कर सकता है।

पाकिस्तान लगातार इस बात का दावा कर रहा है कि कश्मीर में मानवाधिकारों का उल्लंघन किया जा रहा है। ऐसे में ट्रंप मोदी से इस मुद्दे पर भी बात कर सकते हैं। मालूम हो, पीएम मोदी आज फ्रांस के प्रधानमंत्री से मुलाक़ात करने वाले हैं।

पाक-भारत में भिड़ंत बहुत सालों से चली आ रही है। 90 के दशक में जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद का जिस तरह का माहौल था वो सारी दुनिया के सामने है। लेकिन अब आर्टिकल 370 हटने के बाद पाकिस्तान फिर से जम्मू-कश्मीर में 90 के दशक जैसा माहौल बनाने की साज़िश रच रहा है।

कुछ दिन पहले रेल मंत्री शेख रशीद ने पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी प्रमुख बिलावल भुट्टो जरदारी के खिलाफ अपशब्द कहे थे। यह पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी को बिल्कुल पसंद नहीं आया।