jammu kashmir

आतंकियों ने इस घटना को ऐसे वक्त अंजाम दिया है जब कल यानि 24 अक्टबूर को ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल (BDC) के चुनाव होने वाले हैं।

भारतीय सेना ने कश्मीर में हमला कर रहे आतंकियों को धूल चटाने में कई कसर नहीं छोड़ी है। इसके साथ ही सेना ने बड़ी खुशखबरी दी है। सूत्रों से मिली रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि घाटी में जाकिर मूसा के गिरोह का अंत हो गया है।

जम्मू-कश्मीर में केंद्र सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 हटने के बाद से आज तक पाकिस्तान की बौखलाहट कम होने का नाम नही ले रही है। पाकिस्तान भारत में अशांति फैलाने के लिए अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है।

जम्मू-कश्मीर का कठुआ केस सभी को याद है। जहां 2018 में एक छोटी बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार कर उसकी हत्या कर दी गयी थी।

गौरतलब है कि पाकिस्तान ने एक बार फिर भारत को परमाणु हमले की गीदड़भभकी दी है। पाक रेलमंत्री शेख रशीद ने कहा है कि भारत से अब सीधे परमाणु युद्ध होगा। उन्होंने कहा कि अब ऐसा युद्ध नहीं होगा कि 4-6 दिन तक टैंक, तोपें चलेंगी अब सीधे-सीधे परमाणु युद्ध होगा।

जम्मू-कश्मीर से धारा-370 हटाए जाने के बाद  से पाकिस्तान की तरफ सीजफायर की घटनाएं बढ़ी है। अभी कुछ दिन पहले पाकिस्तान के सैनिकों ने कश्मीर के तंगधार और केरन सेक्टर में गोलीबारी की थी। भारतीय सैनिकों ने इस गोलीबारी के जवाब में पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर यानी पीओके में मिलिट्री ऑपरेशन को अंजाम दिया।

जब पाकिस्तान की ओर से फायरिंग शुरू की गई, तब बच्चों के स्कूल की छुट्टियां हुई थीं। मगर फायरिंग के कारण 12 बच्चे बीच में ही फंस गए। अब इन बच्चों को सुरक्षित निकालने का प्रयास किया जा रहा है।

राजा हरि सिंह ने कबायली आक्रमण से घबराकर भारत से मदद की गुहार लगाई। ऐसी स्थिति में भारत ने भी बिना विलय हुए मदद करने से साफ इनकार कर दिया।

रविवार को पाकिस्तान की सेना गोलीबारी की, जिसमें पाकिस्तान के 16 आतंकी ढेर हो गए जबकि भारतीय सेना के 2 जवान मुहंतोड़ जवाब देते हुए शहीद हो गए। इसके साथ ही एक नागरिक की मौत हो गई और 3 लोग घायल हो गए हैं।

भारतीय सेनाध्यक्ष बिपिन रावत ने कहा कि हमले में 6 से 10 पाकिस्तानी सैनिक और कई आतंकी मारे गए हैं। एलओसी पार अथमुकम, जूरा और कुंदलशाही में कई आतंकी कैंप तबाह किए गए।