jammu kashmir

जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ की साजिशों को अंजाम देने के लिए पाकिस्तान ने नया आयाम देने की योजना बनाई है। घाटी के सांबा जिले में ड्रोन से हथियार गिराने के लिए पाकिस्तान ने अपनी चालबाजियों में तेजी लाया है।

करम सिंह का जन्म 15 सितम्बर 1915 को पंजाब के संगरूर ज़िले के भालियाँ वाले गाँव में हुआ था। इनके पिता सरदार उत्तम सिंह एक सम्पन्न किसान थे। वे दूसरे विश्व युद्ध में अपनी वीरता का परचम लहरा चुके थे, जिसके लिए इन्हें 14 मार्च 1944 को सेना पदक मिला था।

पाकिस्तानी सेना ने आतंकवादियों की घुसपैठ कराने के लिए एलओसी के अखनूर सेक्टर में मंगलवार शाम से भारी गोलाबारी शुरू की। रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तानी गोलाबारी में सेना के चार जवान घायल हुए हैं। भारतीय सेना ने तीन आतंकियों को मार गिराया है।

आतंकियों ने दो बड़ी योजनाएं बनाई थी। पहली साजिश उनकी अनंतनाग में पुलिस जवानों पर हमला करने और उनकी हत्या करने की थी, वहीं दूसरी योजना के तहत वह अनंतनाग ग्रेनेड हमला करने वाले थे।

पाकिस्तानी सैनिक लगातार बिना उकसावे के संघर्ष विराम उल्लंघन कर रहे हैं। इसी कड़ी में पुंछ जिले के बालाकोट सेक्टर मे पाकिस्तान ने सीमा पर गोलाबारी की।

पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले के देगवार सेक्टर में नियंत्रण रेखा से सटे इलाकों में गोलीबारी की है। जिसके बाद भारतीय सेना (Indian Army) ने भी मोर्चा संभाल लिया है।

सुरक्षाबलों ने आज पाकिस्तान से भारत में सुरंग के जरिये आतंकियों को दाखिल कराने के पैतरे के तहत एक और सुरंग को खोज निकाली है।

भारत की सुरक्षा एजेंसियों की सतर्कता ने पाकिस्तान में बैठे आतंकियों के आकाओं की नींद उड़ा दी है जिसको लेकर उनको इस बात का डर सता रहा है कि फोन या सैटेलाइट का इस्तेमाल सुरक्षित नहीं है, ऐसे में अलग-अलग नाम से सोशल मीडिया पर अकाउंट्स बनाए गए हैं।

कश्मीर के अवंतीपोरा में जैश के दो मददगारों को सुरक्षाबलों ने गिरफ्तार किया है। उनके पास से गोला बारूद बनाने का सामान भी बरामद हुआ।

भारतीय सुरक्षाबलों ने रविवार को लश्कर के एक आतंकी ठिकाने का पता लगाकर उसे नष्ट कर दिया। तलाशी अभियान में एक गोशाला में आतंकवादियों का ठिकाना मिला।