jammu kashmir

जम्मू-कश्मीर में सेना और सुरक्षाबलों की कड़ी कार्रवाई से आतंकी बौखला गए हैं। अब वह लगातार नापाक हरकत कर रहे हैं और नेताओं को निशाना बना रहे हैं।

मनोज सिन्हा 1 जुलाई 1959 को यूपी के गाजीपुर जिले के मोहनपुरा गांव में एक किसान परिवार के घर में पैदा हुए थे। उनका बचपन काफी अच्छे से बिता। शुरुआती पढ़ाई गांव के प्राथमिक विद्यालय में हुई। वह पढ़ाई में काफी अच्छे थे।

पड़ोसी देश पाकिस्तान उस वक्त दहल उठा, जब बुधवार को 'कराची रैली' पर ग्रेनेड हमला हुआ। इस हमले में कम से कम 30 लोगों के घायल होने की खबर है।

जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 और 35 A हटाए जाने का एक साल पूरा हो गया। राज्य का विशेष दर्जा खत्म होने और केंद्र शासित प्रदेश बनाये जाने की आज पहली वर्षगांठ है। प्रदेश में जश्न का माहौल है।

केंद्र की मोदी सरकार ने बीते साल 2019 में आज ही के दिन यानी 5 अगस्त को जम्‍मू और कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 (Article 370) खत्म कर दिया था। इस अनच्छेद के हटाए जाने की पहली वर्षगांठ है।

जम्मू-कश्मीर में लाइन ऑफ कंट्रोल पर सीजफायर का उल्लंघन करने वाले आतंकियों को धूल चटाते हुए भारतीय सुरक्षाबलों ने पाकिस्तान को जबरदस्त सबक सिखाया है।

जम्मू कश्मीर में आतंकियों ने बड़े काण्ड को अंजाम दिया है। शोपियां जिले से रविवार की रात आतंकी सेना के एक जवान को अगवा कर ले गए।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने शनिवार को मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि जन सुरक्षा कानून (PSA) के तहत पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती की हिरासत को बढ़ाया जाना कानून का दुरूपयोग।

जम्मू कश्मीर में एलओसी के पास दो क्षेत्रों में पाकिस्तानी सेना ने फायरिंग शुरू कर दी और मोर्टार दागे। इस दौरान एक भारतीय जवान शहीद हो गया।

पाकिस्तान की नापाक हरकतें लगातार जारी हैं। वह बार-बार सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है। अब एक बार फिर पाकिस्तान को सीजफायर का उल्लंघन करना भारी पड़ गया है।