kannauj news

दूसरे प्रदेशों व जिलों से आने वाले लोगों को 21 दिन के लिए होम क्वारंटीन किए जाने के लिए बनाई गईं ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों की निगरानी समितियां फ्लॉप साबित हो रही हैं।

देश के कई प्रदेशों से फंसे प्रवासी कामगारों के जिले में आने का क्रम चल रहा है। मंगलवार को भी करीब तीन सैकड़ा लोग जिले में पहुंचे। ठिकाने पर पहुंचने के लिए रोडवेज बसें इधर-उधर भटकती रहीं।

कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी का असर स्वास्थ्य महकमे में भी दिख रहा है। जिला अस्पताल का ब्लड बैंक भी इससे अछूता नहीं है। 300 यूनिट ब्लड रखने वाले क्षमता के अस्पताल...

लेकिन जरूरतमंदों की मदद करने के लिए निजी नर्सिंगहोम आगे नहीं आए हैं। कोई भी ऐसा प्राइवेट अस्पताल संचालक नहीं दिखा जो संवेदनशील हो, जबकि किसी न किसी रूप में मदद कर सकते हैं।

अपराधियों को सजा देने और पीड़ितों को न्याय दिलाने की बात तो सभी जानते हैं, लेकिन उत्तर प्रदेश के कन्नौज में जज अब जरूरतमंदों की मदद को आगे आ गए हैं...

उत्तर प्रदेश में इस महीने की 15 तारीख से शुरू हुआ फ्री चावल वितरण का लाभ सात दिनों में ही करीब 89 फीसदी राशनकार्ड धारक उठा चुके हैं। एक यूनिट पर पांच-पांच किलो फ्री चावल मिलने वाली योजना का लाभ 26 अप्रैल तक मिलेगा।

मंगलवार को केंद्र सरकार के जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत देश के पांच राज्यों के नमामि गंगे योजना के गंगा प्रहरियों से जूम क्लाउड के जरिए मिले। देश की राजधानी से ही वे यूपी के कन्नौज की टीम लीडर रमा तिवारी से भी जुड़े।

लॉकडाउन के 27वें दिन सरकारी दफ्तर अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए खुल गए। अभी जनता का काम नहीं होगा। तीन मई तक यहां बाहरी लोगों के आने की अनुमति भी नहीं है।

उत्तर प्रदेश में अस्थाई जेल खुलने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। नोवेल कोरोना महामारी की चपेट में आने वाले ऐसे आरोपी जिनके खिलाफ कोई एफआईआर दर्ज होगी, यहीं रखे जाएंगे।

देशव्यापी लॉकडाउन की वजह से बंद चल रहे सरकारी दफ्तर 20 अप्रैल से खुल जाएंगे। विकास भवन के सभी क्लास वन व टू के अधिकारी कार्यालय में काम निपटाएंगे।