Karnatak

कर्नाटक से चमत्कारी खबर आई है। एक हिंदू मंदिर में एक मुसलमान पुजारी को नियुक्त किया गया है। यह मठ लिंगायत संप्रदाय का है। कर्नाटक में दलितों के बाद लिंगायतों की संख्या सबसे ज्यादा है।

कर्नाटक की येदियुरप्पा सरकार अब उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के नक्शोंकदम पर चल पड़ी है। कर्नाटक सरकार ने नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर योगी सरकार का उदाहरण लेते हुए कार्रवाई करने का विचार कर रही है। ऐसे में अगर सीएम येदियुरप्पा योगी सरकार के फैसलों को कर्नाटक में लागू करती है तो सीएए का विरोध करने वालों को बड़ा झटका लग सकता है।

खबर कर्नाटक की है, जहां पर बच्चों से मेडिकल में एडमिशन दिलाने के लिए घूस लेने का मामला सामने आया है। मेडिकल की एक सीट दिलाने के लिए करीब 60 लाख रुपये तक पैसे मांगे जाते थे।

काफी समय के इंतजार के बाद कर्नाटक में मंत्रियों के विभागों का बंटवारा हो गया है। इस बार की सरकार में सीएम येदियुरप्पा के मंत्रिमंडल में तीन उप सीएम हैं जिनमें से एक वही बीजेपी नेता हैं जिन्हें पोर्न देखते हुए पाया गया था। जिसके कारण राजनीतिक गलियारों में हलचल है।

केरल, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात में बारिश और बाढ़ का कहर बना हुआ है जिस वजह से 241 लोगों की जान जा चुकी है। मौसम विभाग ने राजस्थान, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और मध्य प्रदेश में भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

बारिश और बाढ़ से प्रभावित कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र व मध्यप्रदेश में हालात बहुत खराब हो गए है। बाढ़ चार राज्यों में इस प्राकृतिक आपदा में अब तक 125 लोगों की मौत हो चुकी है। कर्नाटक में बाढ़ से सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। महाराष्ट्र के सांगली में भी हाहाकार मचा हुआ है।

कर्नाटक में कांग्रेस-जद(एस) सरकार पर संकट की खबरों के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और राज्य प्रभारी केसी वेणुगोपाल मंगलवार की शाम को बेंगलुरू पहुंच रहे हैं।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रोशन बेग ने एक्जिट पोल में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के अनुमान के मद्देनजर सोमवार को पार्टी छोड़ने के संकेत दिये। उन्होंने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के सरकार में लौटने की स्थिति में मुस्लिम समुदाय से समझौता करने का निवेदन भी किया।

कांग्रेस के कुछ विधायकों ने बागी तेवर अपनाया हुआ है जिसकी वजह कांग्रेस ने अपी सभी विधायकों को एक रिजॉर्ट पहुंचा दिया है। शुक्रवार को कांग्रेस ने यह फैसला पार्टी विधायक दल की बैठक के ठीक बाद लिया, जिसमें 4 'बागी' विधायकों ने हिस्सा नहीं लिया।