kashi

लखनऊ। शिवसेना प्रमुख उद्द्व ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार आयोध्या नगरी में रामलला के दर्शन को आ सकते हैं। सुत्रों की माने तो ये दौरा कुछ दिनों के भीतर हो सकती है जिसे लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई है। वहीं उद्दव का ये दौरा भाजपा के लिए खतरे की घंटी …

7 जुलाई को वाराणसी के चौधरी उप केंद्र से 18 घंटे तो 21 जुलाई को 36 घंटे बिजली गुल रही। ऐसे में जब ये मामला श्रीकांत शर्मा को पता चल तब उन्होंने निदेशक अंशुल अग्रवाल का डिमोशन कर दिया।

आध्यात्म और संस्कृति के केंद्र के रूप में दुनिया में पहचान रखने वाली नगरी वाराणसी में 5 दिनों तक चलने वाले दीपोत्सव का शुभारंभ हो चुका है। पहले दिन धनतेरस के खास मौके पर स्वर्णमयी अन्नपूर्णा माता के दर्शन के लिए लोगों का हुजूम आता है।

आशुतोष सिंह वाराणसी : धर्मनगरी काशी को सात वार और नौ त्योहार वाला शहर कहा जाता है। मतलब हफ्ते में जितने दिन नहीं, उससे ज्यादा तो यहां पर पर्व और त्योहार मनाए जाते हैं। इन्हीं में शुमार है काशी का प्रसिद्ध लक्खा मेला भरत मिलाप। विजयदशमी के दूसरे दिन होने वाले इस खास मेले के …

गंगा किनारे बने घाट अब डूबने लगे हैं। ऐहतिहातन घाट पर अलर्ट जारी कर दिया गया है। अगर अगले कुछ दिनों तक यही हालत रहे तो निचले इलाकों में बाढ़ का खतरा बढ़ जाएगा।

वाराणसी: कहते हैं काशी के कण-कण में भगवान भोलेनाथ का वास होता है। सावन का महीना जिस पवित्र महीने में दूर दराज से लोग काशी आकर महादेव को जल अर्पण करते है। ऐसे में शहर के लंका पुलिस थाने में रखे शिवलिंगों की विशेष पूजा हो रही है। श्री विद्या मठ के बटुक रोजाना सुबह-शाम …

लगातार हो रही बारिश का साइडइफेक्ट देखने को मिलने लगा है। उत्तर प्रदेश सहित कई प्रदेशों में धीरे-धीरे बाढ़ के हालात बनने लगे हैं। नदियां उफान मार रही हैं। वाराणसी में भी गंगा में जलस्तर में तेजी से बढ़ाव देखने को मिल रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को दो दिवसीय दौरे पर वाराणसी आएंगे और विकास कार्यों की समीक्षा बैठक करेंगे। वह देर रात विकास कार्यों का स्थलीय निरीक्षण भी करेंगे।

पतित पावनी गंगा के अवतरण के दिन को गंगा दशहरा के रूप में भी मनाया जाता है। इस खास मौके पर वाराणसी के घाटों पर सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ लगी है। लोग गंगा में डुबकी लगाकर पुण्य कमा रहे हैं। दशाश्वमेध घाट, शीतला घाट, केदार घाट, अस्सी घाट, तुलसी घाट पर सुबह से ही श्रद्धालुओं की लाइन लगी है। 

भारत और चीन के बीच अनौपचारिक वार्ता के लिए आगामी अक्टूबर में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग भारत आने वाले हैं। पीएम नरेंद्र मोदी के लोकसभा चुनाव जीतने के बाद ये चीन के साथ पहली अनौपचारिक वार्ता होगी।