keshav prasad maurya

इसका असर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या, ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा, स्वामी प्रसाद मौर्या, मोहसिन रजा, मुकुट बिहारी वर्मा, अनिल राजभर सहित तीन दर्जन से अधिक मंत्रियों के सरकारी आवास की बिजली पर देखने को मिला। इन सभी लोगों के घरों की बिजली गुल हो गई।

उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य कोरोना संक्रमित हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि कोरोना संक्रमण के प्रारंभिक लक्षण मिलने के बाद मैंने कोविड टेस्ट करवाया जिसमें आज मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है

प्रदेश के उपमुख्यमंत्री और कानपुर नगर के प्रभारी मंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने मंगलवार को कानपुर के घाटमपुर में नेशनल हाइवे से परास चौराहा तक जाने वाली सड़क का नामकरण पूर्व मंत्री कमलरानी वरुण के नाम पर करने का ऐलान किया।

पीडब्ल्यूडी के एक इंजीनियर के तबादले को लेकर इन दिनों मुख्यमंत्री के गृह नगर गोरखपुर में राजनीति गरमाई हुई है ।

आगामी 5 अगस्त को देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के आगमन पर सम्पूर्ण रामनगरी को आलोकित करने की तैयारी चल रही है। जिसकी जिम्मेदारी डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय दी गई है।

पार्टी 13 जुलाई को 39 विधानसभाओं में वर्चुअल सम्मेलन करके बूथ, सेक्टर, मण्डल, जिला, क्षेत्र व प्रदेश के भाजपा पदाधिकारियों से संवाद करेगी। उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य शाहजहाँपुर के तिलहर में विधानसभा सम्मेलन को सम्बोधित करेंगे।

यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बताया लोक निर्माण विभाग, राज्य सेतु निगम तथा उप्र. राजकीय निगम लि. में अधिक से अधिक मजदूरों को काम दिया जा रहा है।

यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने समाजसेवियों व स्वैच्छिक संगठनों से अपील की है कि वे इस संकट काल में नागरिकों को खासतौर से अन्य प्रदेशों से आ रहे कुशल व अकुशल श्रमिकों को मदद दिलाने में सहयोग प्रदान करें।

उन्होंने कहा कि हम इनकी प्रतिभा और कौशल के आधार पर उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने में कामयाब होंगे और इस दिशा में सरकार गंभीर प्रयास कर रही है। उत्तर प्रदेश में भारी संख्या में निवेश कराने के प्रयास चल रहे हैं, जिससे शिक्षित व प्रतिभाशाली लोगों को भी उनकी प्रतिभा के अनुसार काम मिल सके।

श्री मौर्य ने जोर देते हुए कहा कि जिन क्षेत्रों में बाढ़ आती है, वहां के कार्यों व स्ट्रक्चर कार्यों को बारिश से पहले हर हाल में प्राथमिकता के आधार पर पूरा कराया जाए। किसी भी स्तर पर कार्यों में या मानकों में या सुरक्षा मानकों में कोई लापरवाही की गई तो संबंधित अधिकारी व कर्मचारी को किसी भी दशा में माफ नहीं किया जाएगा।