krishna

रंगों का त्योहार होली फाल्गुन महीने में पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। तेज संगीत और ढोल के बीच एक दूसरे पर रंग और पानी फेंका जाता है। देशभर में मनाया जाने वाला ये त्योहार भी बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। पौराणिक कथा के अनुसार होली से हिरण्यकश्यप की कहानी जुड़ी है।

कृष्ण को लेने के लिए कंस ने रथ भेजा था। जिसके आते ही सभी ने उस रथ के आसपास घेरा बना लिया। ये सोचकर कि वे कृष्ण को जाने नहीं देंगे। उधर कृष्ण को राधा की चिंता सताने लगी। वे सोचने लगे कि जाने से पहले एक बार राधा से मिल लें। इसलिए मौका पाते ही वे छिपकर वहां से निकल गए।

श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर कुछ खास उपाय किए जाए तो मनुष्य की कई मनोकामना की पूर्ति हो सकती है।  किसी भी सिद्धि प्राप्ति या मनोकामना पूर्ति के लिए चार रात सबसे सर्वश्रेष्ठ हैं। इनमें से जन्माष्टमी भी एक है। जन्माष्टमी पर आप ये उपाय कर सकते हैं-

कहते हैं कृष्ण के जन्म से हर तरफ खुशियां छा जाती है ,ऊर्जा का संचार होगा।कृष्ण का जन्म नई खुशियों लेकर आता है। मानस में प्रेम का संचार करता है। जन्माष्टमी पर  कृष्ण से जुड़े कुछ उपाय  है, जो जीवन में नई उमंग, प्रेम और उत्साह का संचार करते हैं। जानते हैं इनके बारे में।

दोस्ती की दास्तां जब वक्त सुनाएगा, तुम्हें भी वो  शख्स याद आएगा, भूल जाओगे जिंदगी के गमों को जब दोस्तों के साथ गुजरा वक्त याद आएगा।   वैसे तो फ्रेंडशिप आज का ट्रेंड है पर हम आपको बता दें  भारत में शुरू से ही दोस्तों को महत्व दिया जाता रहा है। राम -कृष्ण ने, हनुमान-सुग्रीव ने  कृष्ण-सुदामा ने भी अच्छे दोस्त है

गोरखपुर: गोरखनाथ मंदिर में हर वर्ष की भांति मनाए जाने वाली जन्माष्टमी इस वर्ष भी धूमधाम से मनाई जा रही है। गोरक्षनाथ मंदिर के मुख्य मंदिर में कृष्ण भगवान की पालकी सजी हुई है। पूरा मंदिर सजा हुआ है। सांस्कृतिक कार्यक्रम चल रहे हैं। लोगों की बहुत भीड़ है। मंदिर के महंत और सूबे के …

बाराबंकी: देश की राजनीति ने लोगों को धर्म के आधार पर बांट दिया है। आज हिन्दू मुसलमानों के बीच एक ऐसी लकीर बन गयी है जहाँ इनका एक छत के नीचे इकठ्ठा होना मुश्किल हो गया है मगर आज के इस नफरत वाले माहौल में भी भगवान कृष्ण का जन्मोत्सव एक ताजे हवा के झोंके …

जयपुर: कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व 3 सितम्बर को पूरे देश में हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा हैं। इस दिन सभी भक्तगण भगवान कृष्ण की भक्ति में लीन होते हुए उनकी पूजा करते हैं और उन्हें कई पकवानों के भोग चढ़ाए जाते हैं। बाजारों में मिलावट के चलते सभी घर पर ही मिठाइयां बनाना पसंद …

जयपुर: दोस्ती की दास्तां जब वक्त सुनाएगा, तुम्हें भी वो  शख्स याद आएगा, भूल जाओगे जिंदगी के गमों को जब दोस्तों के साथ गुजरा वक्त याद आएगा।   वैसे तो फ्रेंडशिप आज का ट्रेंड है पर हम आपको बता दें  भारत में शुरू से ही दोस्तों को महत्व दिया जाता रहा है। राम -कृष्ण ने, हनुमान-सुग्रीव …

मृत्युंजय दीक्षित श्रीमद्भगवद्गीता भारत का ही नहीं अपितु समस्त सनातन संस्कृति का एक परम पूजनीय ग्रंथ है। यह एक ऐसा महान ग्रंथ है जो प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में ऊर्जा व उत्साह का संचार करता है। आज पूरा विश्व गीता को अपनाना चाह रहा है। गीता एक ऐसा पवित्र धर्म ग्रंथ है जो वर्तमान समय …