ladakh

हर साल अप्रैल से भारी बर्फ से दोनों रास्ते बंद हो जाते हैं। इतना ही नहीं परिस्थितियों को देखते हुए, भारतीय सेना और पीएलए को अंतर बनाए रखने के साथ-साथ सीमाओं के बिंदुओं पर पोस्ट किया गया है ताकि कोई अप्रिय घटना न घट सके।

ग्‍लोबल टाइम्‍स ने इस युद्धाभ्‍यास का एक वीडियो भी जारी किया है। इस विडियो में देख सकती है चीनी सेना अंधेरे में ड्रोन विमानों की सहायता से से हमला करती है। वीडियो में दिखाया गया है कि चीनी सेना की रॉकेट फोर्स एक साथ जोरदार हमले करती है और एक पूरे पहाड़ी इलाके को तबाह कर देती है।

केंद्रीय गृह मंत्री ने एक साक्षात्कार में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में देश में मजबूत सरकार काम कर रही है और हमारी सेना देश की संप्रभुता और सीमा की सुरक्षा में पूरी तरह सक्षम है।

लद्दाख में ठंड़ की शुरुआत होते ही चीनी सेना की हालत खराब हो गई है। पैंगोग झील के उत्‍तरी क‍िनारे पर चीनी सेना को अपने सैनिकों की जनहानि का नुकसान हुआ है। पिछले हफ्ते एक चीनी सैनिक की मौत हो गई थी जिसको वहां निकालकर ले जाते देखा गया।

कई महीनों से लद्दाख सीमा पर चल रहा तनाव थमता हुआ तो दिखाई नहीं दे रहा है। बीते दिनों भारत और चीन के बीच कोर कमांडर लेवर की मीटिंग जोकि 11 घंटे से ज्यादा चली, और रात 11:30 बजे खत्म हुई।

आज का दिन देश की सुरक्षा और दुश्मन देशों को झटका देने वाला ऐतिहासिक दिन माना जा सकता है। सीमा पर तैयार किए गए इन 44 पुलों को आज से शुरू किया जाएगा।

सोमवार दोपहर करीब 12 बजे ईस्टर्न इलाके के चुशूल क्षेत्र में दोनों सेनाओं के बीच बातचीत होगी। मई में शुरू हुए तनाव के बाद जून में बातचीत का सिलसिला शुरू हुआ था, इस बीच कई बार सैनिकों को पीछे हटाने पर चर्चा हुई, लेकिन चीन हर बार अपनी बात से मुकर गया।

चीन की गुस्ताखियां मई के महीने से ही शुरू हो गई थी, और अभी तक बरकरार हैं। ऐसे में चीन के साथ बीते कई महीनों से चल रहे तनाव के बाद भारत ने परमाणु कौशल को बढ़ाते हुए 3 अक्टूबर को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) की उन्नत संस्करण शौर्य मिसाइल का सफल परीक्षण किया था।

रेलवे स्टेशन स्थित तीनों डिपो की तरफ से दस हजार से अधिक लीटर की बिक्री करने वाले कुछ पेट्रोल पंपों को तेल की सप्लाई कर दी गई, लेकिन इसके बाद सप्लाई को बंद कर दिया गया।