laddakh

चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने भले लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा की कुछ जगहों पर तनाव कम करने के कदम उठाये हैं लेकिन अब भी वह कई महत्वपूर्ण जगहों पर ख़तरा बना बैठा है।

ये भारतीय सैनिकों का गांव है। यहां अगर आप ढूंढने निकलेंगे तो हर घर में कम से कम एक फौजी तो जरूर मिलेगा, कुछ अनोखी है इस गांव की...

पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन के साथ हुए ताजे विवाद के बाद केंद्र सरकार सड़कों की कनेक्टिविटी के साथ ही संचार नेटवर्क को मजबूत...

लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच हुए हिंसक संघर्ष में शहीद जिन सैन्य कर्मियों के नाम सामने आए हैं उनमें बिहार रेजीमेंट के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल संतोष बाबू भी शामिल हैं।

चीनी सैनिक भारतीय सीमा के इतने करीब एक एयर बेस प्रोजेक्ट के नाम पर पहुँच गए। ट्रकों से इतनी बड़ी संख्या में चीनी सैनिकों की भीड़ बॉर्डर पर पहुँचने पर इंडियन आर्मी पर चकरा गयी कि उनके सुरक्षाबलों की तुलना में चीनी सैनिक यहां ज्यादा बल में कैसे पहुंच गए।

चीन भारत के साथ अपने रिश्ते खराब कर रहा है। सीपीईसी प्रोजेक्ट के जरिये पीओके तक पहुंचने की फिराक में लगा चीन अब लद्दाख में घुसपैठ कर रहा है।

चाहे कितनी भी बड़ी-बड़ी गाड़ियों हो, BMWहो या मर्सिडीज इन सब को चलाने या इसमें सफर करने से ज्यादा मजा कुछ लोगों को बाइक चलाने में आता है। कुछ लोग तो लॉन्ग ड्राइव में भी बाइक का इस्तेमाल करते हैं। ऐसे पैसनेट लोगों के लिए ये जगहें खास है जहां बाइक लवर्स जाकर बाइकिंग का मजा ले सकते हैं।

नवंबर महीने में पहाड़ों पर बर्फबारी का तीसरा स्पेल आने वाला है। दरअसल, जम्मू-कश्मीर के निकट एक नया पश्चिमी विभोक्ष पहुंच गया है।

रियल एस्टेट डिवेलपर्स की संस्था क्रेडाई के चेयरमैन जैक्से शाह ने कहा है कि वो लंबे समय से इस फैसले का इंतजार कर रहे थे। अब इन तीनों राज्यों में रेजिडेंशल  के साथ कॉमर्शियल प्रॉपर्टी में भी निवेश होगा। उनका कहना है कि वहां पर्यावरण को नुकसान पहुंचाए बिना टूरिज्म के लिए गोल्फ कोर्स, होटल और दूसरी सुविधाओं के विकास की पूरी संभावना है।

भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) ने लेह और लद्दाख की सैर के लिए बुकिंग शुरू कर दी है। यह यात्रा 16 से 21 अप्रैल के बीच छह दिनों व पांच रातों की होगी।