lalu prasad yadav

अपने बयानों या फिर किसी न किसी काम को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाले तेजप्रताप एक बार फिर चर्चा में हैं। लेकिन इस बार वे मुश्किल में भी फंसते नजर आ...

राजनीति की पिच पर तेजप्रताप यादव अपने अर्जुन यानी बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव से भले ही पिछेहों, लेकिन डिजिटल की रेस में वो भाई से चार कदम आगे हैं। फेसबुक, इंस्टाग्राम, और ट्विटर के बाद तेजप्रताप अब अपनी वेबसाइट लॉन्च करने वाले हैं।

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Election 2020) इसी साल होने है लेकिन इससे पहले ही राज्य की सबसे बड़ी पार्टियों में शामिल राष्ट्रीय जनता दल (RJD) में अंतरकलह की जानकारी सामने आ रही है। जानकारी मिल रही है कि राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के दो करीबी दोस्तों में ठन गयी है। …

बिहार: जब बिहार के सबसे बड़े सियासी परिवार में हाई प्रोफाइल शादी हुई तो सबकी निगाहें उसी पर टिंकी थीं, वहीं बाद में इस राजनीतिक शादी में सब ठीक न होने पर मामला कोर्ट तक पहुंच गया और अब एक बार फिर लालू प्रसाद यादव और उनका परिवार लाइमलाईट में हैं। कोर्ट में तेज प्रताप …

लालू लगातार 11वीं बार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने हैं, मंगलवार दोपहर आरजेडी के संगठन चुनाव में पार्टी कार्यालय में चार सेटों में लालू यादव का नामांकन पत्र दाखिल किया गया।

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएन शेषन का 87 साल की उम्र में रविवार रात चेन्नई में निधन हो गया। शेषन 1990 से 1996 तक देश के मुख्य चुनाव आयुक्त रहे। शेषन पर आरोप लगे के कि वह कांग्रेसी हैं, हालांकि उनके लिए फैसलों से कांग्रेस खुद परेशान थी।

साल 2017 में राबड़ी देवी ने छठ पूजा की थी। तब आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव परिवार के साथ ही थे। राबड़ी देवी समेत परिवार के सभी सदस्यों ने 25 अक्टूबर, 2017 को घर के अंदर बने कुंड पर भगवान भास्कर को अर्घ्य अर्पण किया था।

पिछले साल से राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव रांची के राजेन्द्र इंस्टीट्यूट ऑप मेडिकल साइंस में भर्ती हैं। अब लालू को आर्थराइटिस की वजह से चलने फिरने में परेशानी हो रही है।

ताजा उदाहरण राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद यादव (71) का है। जिन्होंने जेल के 19 महीनों में से 17 महीने अस्पताल में काटे हैं और अब भी उनकी तबीयत ठीक नहीं हुई है।

लालू प्रसाद ने बड़े बेटे तेज प्रताप यादव को दरकिनार कर तेजस्वी को एक तरह से राजनीतिक उत्तराधिकारी घोषित तो कर दिया है लेकिन पार्टी में औपचारिक तौर पर बड़ी शक्ति नहीं दी है। लेकिन अब तेजस्वी अखिलेश यादव की राह पर चल कर पार्टी सरताज की चाहत रख रहे हैं तो क्या लालू अब मुलायम बन जाएंगे।