latest breaking news uttar pradesh

रायबरेली: उत्तर प्रदेश में विपक्षी पार्टियां जहां हार की समीक्षा करने में जुटी हैं, वहीं सत्ताधारी बीजेपी ने लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारियां सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली से शुरू कर दी हैं। इसी सिलसिले में अंबेडकर जयंती की पूर्व संध्या पर केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह रायबरेली पहुंचे और दलित धर्मेंद्र …

समाजवादी पार्टी के एमएलए और प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री राजा अरिदमन सिंह ने शहर के एक सांस्कृतिक लोगों के व्हाट्स एप ग्रुप पर अश्लील विडियो पोस्ट कर दिया। हालांकि इस वीडियो के पोस्ट होने के बाद ही एमएलए राजा अरिदमन सिंह ने ग्रुप में इस वीडियो के पोस्ट करने के लिए खेद व्यक्त कर दिया लेकिन इसके बाद यह मामला शहर भर में चर्चा का विषय बन गया है।

राज्य के संसदीय कार्यमंत्री आजम खान ने सोमवार को विधानभवन के टंडन हाल में विधानसभा की 25 साल की कार्यवाहियों के डिजिटलीकरण के शुभारंभ के मौके पर कहा कि बीएसपी से बीजेपी में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्या पर तंज कसते हुए कहा कि उन्होंने ऐसी कलाबाजी लगाई है कि सैफई के अखाड़े से शाहजहांपुर के अखाड़े में जा गिरे।

बसपा सुप्रीमो मायावती रविवार को आगरा के कोठी मीना बाजार से चुनावी शंखनाद करेंगी। उनके साथ मंच पर बसपा महासचिव सतीश मिश्रा भी होंगे। बसपा में बगावत के बाद इस रैली के जरिए मायावती विरोधियों को अपनी ताकत का अहसास कराएंगी। चुनावी हुंकार के साथ बसपा मंडलीय रैलियों के जरिए डैमेज कंट्रोल अभियान भी आरंभ करेंगी। इस रैली के जरिए बसपा सुप्रीमो मायावती सवर्ण, मुस्लिम और दलित वोट बैंक को साधने का प्रयास करेंगी।

पिछले चार सालों से सऊदी अरब की जेल में बंद धर्मेंद्र कुमार की खबर को भारत के विदेश मंत्रालय और एम्बैसी ऑफ इंडिया, रियाद द्वारा संज्ञान में लिए जाने पर धर्मेंद्र कुमार के परिजनों ने विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह और newstrack.com को धन्यवाद कहा है। परिजनों ने आशा जताई है कि newstrack.com की खबर का संज्ञान लेकर सरकार ने जो प्रयास शुरू किए हैं उनके चलते उनका बेटा धर्मेंद्र जल्द ही सऊदी अरब की जेल से रिहा होकर उनके परिवार के बीच में होगा। अपने हांथों में मेंहदी लगाकर धर्मेंद्र कुमार की छोटी बहन शिवानी अपने भाई को याद कर जल्द से जल्द राखी बांधने की लालसा में रो रही है। अपने बेटे के इंतजार में धर्मेंद्र के परिवार का रो-रो कर बुरा हाल है।

एक बहन को उसके भाई से मिलाने की newstrack.com की मुहिम ऑपरेशन राखी का केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह ने संज्ञान लिया है। जनरल वीके सिंह ने ट्विटर के जरिए इस मामले में और जानकारी मांगी थी जिसे उन्हें तत्काल मुहैया करा दी गई। जनरल वी के सिंह ने इस मामले की जानकारी एम्बैसी ऑफ इंडिया, रियाद को साझा करने को कहा इसके बाद एम्बैसी ऑफ इंडिया, रियाद ने भी newstrack.com से संपर्क किया और कहा कि वह इस मामले को देख रहे हैं।

शायद ही कभी आपने ऐसा सुना को कि सजा पूरी होने के बाद भी कोई कैदी जेल में बंद हो। ऐसा ही कुछ यूपी के फतेहपुर के रहने वाले एक परिवार के साथ हुआ है। जिनका नौजवान बेटा सऊदी अरब देश में नौकरी के लिए गया था। जहां एक पाकिस्तानी ड्राईवर द्वारा किए गए एक्सिडेंट की सजा किसी दूसरे को मिली। सजा पूरी होने के बाद भी वह खाड़ी जेल में चार सालों से सजा काट रहा हैं। अब विक्टिम फैमिली अपने बेटे की वापसी की राह तक रही है। उसकी बहन शिवानी भी अपने भाई के कलाई में राखी बांधने की आस में अपने भाई का चार साल से इंतजार कर रही हैं। परिजनों ने मदद के लिए विदेश मंत्रालय तक का दरवाजा खटखटाया, लेकिन उन्हें सिर्फ आश्वासन के अलावा कुछ भी हाथ नहीं लगा।

मेधावी छात्राओं को कन्याधन का चेक बांटने पहुंचे सीएम अखिलेश यादव ने स्टेज से ही एक कन्यादान का वादा कर दिया। कन्यादान के आश्वासन से एक तरफ जहां नेता और अधिकारी वाह वाह करने लगे वहीँ कन्यादान का आश्वासन पाकर पिता और बेटी भी फूलें नहीं समाए

एक हिंदू प्रेमिका के परिजनों ने मंगलवार को उसके मुस्लिम प्रेमी की हत्या कर दी। आरोप है की दोनों को प्रेमिका के भाई ने आपत्तिजनक स्तिथि में देखकर प्रेमिका के भाई ने अपना आपा खो दिया और घर में रखी लाइसेंसी पिस्टल से प्रेमी को गोली मारकर हत्या कर दी। मामला दो अलग-अलग समुदाय से जुड़ा होने के कारण गांव में तनाव को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात किया गया है।

यह देखो मेरी छत और आंगन में कोई नाच रहा है, उसकी पायल की झंकार की आवाजें आ रही हैं। यह कहकर चिल्लाते हुए कानपुर के रहने वाले डॉ. ज्ञान प्रकाश अपने घर से बाहर भाग आते थे। उनकी इस परेशानी की बात जब उनके पड़ोसी पूछते तो वह बताते कि उन्हें भूत-प्रेत दिख रहे हैं और उनके घर की छ्त पर महिलाएं नाच रही हैं। दरअसल मंगलवार को डॉ. ज्ञान प्रकाश की उनके घर में ही संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। वह अपने घर में अकेले ही रहते थे। पड़ोसियों के मुताबिक डॉ. ज्ञान प्रकाश को अदृश्य शक्तियां दिखती थीं। जिसकी वजह से वह मानसिक रूप से परेशान थे।