latest breaking news world

नई दिल्ली : मोदी सरकार की पहल पर पूरी 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुरुआत हुई। जिसके बाद पूरी दुनिया ने योग को सराहा और अपनाया। इसी का नतीजा है कि अब यूनस्को की प्रतिष्ठित अमूर्त सांस्कृतिक धरोहरों की लिस्ट में गुरुवार को इसे शामिल किया है। Inscribed on the Representative List of …

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वह अपने कारोबार से खुद को अलग कर लेंगे जिससे वह अमेरिका को फिर से महान बनाने के लिए राष्ट्रपति के रूप में काम कर सकें।

इराक और सीरिया से भाग रहे इस्लामिक स्टेट के आतंकवादी यूरोप में विध्वंसक रासायनिक हमले कर सकते हैं। यूएन (संयुक्त राष्ट्र) के ग्लोबल कैमिकल वेपन निगरानी संस्था ने अपनी जांच के बाद चेतावनी दी है।

अफगानिस्तान की राजधानी में सोमवार को शिया समुदाय की एक मस्जिद में भीषण विस्फोट हुआ। जिसमें 28 लोगों की मौत हो गई और 45 से जयादा लोग घायल हो गए।

डोनाल्ड ट्रंप के हाथों मिली हार के बार पहली बार सामने आईं 69 साल की हिलेरी क्लिंटन ने भावुक होते हुए अपने समर्थकों से कहा कि दिल छोटा नहीं करें और गहरे मतभेदों के बावजूद देश को बेहतर बनाने के लिए काम करना जारी रखें।

न्यूजीलैंड के कई शहरों में में रविवार को भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 7.4 मापी गई है। यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के अनुसार सोमवार देर रात (भारत में रविवार शाम करीब 5 बजे) आए भूकंप का केंद्र क्राइस्टचर्च से 90 किलोमीटर सदर्न आइलैंड्स में था।

अफगानिस्तान में स्थित अमेरिका के सबसे बड़े मिलिट्री बेस के अंदर शनिवार को एक भीषण विस्फोट हुआ। जिसमें चार लोगों की मौत हो गई और 14 लोग घायल हुए हैं। इस हमले की जिम्मेदारी तालिबान ने ली है।

आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर को आतंकवादी घोषित कर प्रतिबंधित करने में 9 महीने लगाने पर भारत ने यूनाइटेड नेशन्स सिक्युरिटी काउन्सिल (यूएनएससी) की कड़ी आलोचना की है।

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव पर आतंकी हमले के खतरा मंडरा रहा है। आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आइएस) ने चुनाव के दिन अमेरिका में हमले की धमकी दी है। साथ ही मुस्लिमों से अमेरिका की लोकतांत्रिक प्रक्रिया में हिस्सा नहीं लेने को कहा है। आतंकियों पर निगाह रखने वाले अमेरिका के एसआईटीई खुफिया संगठन ने यह जानकारी दी है।

लद्दाख के डेमचोक इलाके में चीन के सीमा सुरक्षा बलों के विरोध के बावजूद इंडियन आर्मी के इंजीनियरों ने वॉटर पाइपलाइन के काम को पूरा कर लिया। इस पाइपलाइन के जरिए लद्दाख डिवीजन में रहने वाले स्थानीय ग्रामीण सिंचाई कर पाएंगे।