latest news

कहते हैं कि अगर हौसला बुलंद हो तो जटिल से जटिल काम भी आसान हो जाता है। ऐसा ही दुबई में दो बुजुर्ग भारतीय महिलाओं ने कर दिखाया है। इन्होंने अपने उम्र को मात देकर मिसाल बनाई है। व्हीलचेयर पर इन दोनों महिलाओं ने 5 किलोमीटर की ‘दुबई रन’

कई दशक पुराने व देश सबसे बड़े विवादित अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुना दिया । अब अयोध्या में विवादित भूमि को मंदिर बनाने के लिए दे दिया है और इसी शहर में एक 'प्रमुख' स्थान पर मस्जिद के लिए भी जमीन दी जाएगी। इस केस में वादी भगवान रामचंद्र के बालस्वरूप 'रामलला' को 2.77 एकड़ ज़मीन का मालिकाना हक दिया गया है।

एआईएमआईएम (ऑल इंडिया मजलिस इत्तिहादुल मुस्लमिन) नेता असदुद्दीन ओवैसी सुप्रीम कोर्ट के आए फैसले असहमत है। अयोध्या पर आए फैसले पर ओवैसी ने कहा कि हम फैसले से संतुष्ट नहीं।

जयपुर: दfवाली का त्योहार आते ही कुछ दिन पहले से दिल में रौशनी के दीप जलने लगते हैं। दीवाली पर लोग घरों की सफाई तो करते हैं। साथ ही, इस दिन घर को सजाने की भी परंपरा है। रंगोली बनाने का रिवाज है। रंगोली बनाने का अर्थ है जीवन में खुशियों के रंगों को आमंत्रित …

सलमान खान की तरह ही उनका  बॉडीगार्ड शेरा भी चर्चा में रहता है। इस बार शेरा अपनी राजनीति गतिविधियों की वजह से चर्चा में है। शिवसेना अक्ष्यक्ष उद्धव ठाकरे और उनके बेटे आदित्य ठाकरे मौजूदगी में शेरा ने शुक्रवार रात को शिवसेना ज्वाइन कर लिया।इस बात की घोषणा शिवसेना के ट्विटर एकाउंट से हुई।

सुना होगा कि कई देशों में रोबोट रेस्टोरेंट काम कर रहे। जो बात सुनने में रोमांचित करती है वो देखने में कितना इंटरेस्टिंग होगा। इसके लिए विदेश जाने की जरूरत नहीं, क्योंकि अब विदेशों की तरह भारत में भी रोबोट, रेस्टोरेंट में खाना परोसने लगे है। ऐसा सच में देखना चाहते है तो ओडिशा आइए।

छठ पर्व को सबसे ज्‍यादा बिहार में मनाया जाता है। बिहार में ऐसे कई धार्मिक स्थल हैं, जो धार्मिक स्नान की वजह से ही प्रसिद्ध हैं।

फेस्टिव सीजन की शुरुआत हो चुकी है और इसमें महिलाएं खूब साज-श्रृंगार करती है।सोलह श्रृंगार तो महिलाओं का जन्मसिद्ध अधिकार है। मेहंदी लगाकर बोर हो गई हैं, तो इस बार अपने हाथों पर कुछ नया ट्राई करें।इस फेस्टिव सीजन भरवा मेहंदी न लगाकर ये डिजाइनर मेहंदी ट्राई करें। शादीशुदा महिलाएं हों या फिर कुंआरी लड़कियां, मेहंदी लगाना सबको अच्छा लगता है। 

सोलह श्रृंगार का त्योहार, जिसमें ट्रेडीशन है तो स्टाइल भी और साथ में पतिदेव का प्यार भी।  चाहे करवा चौथ पहला हो या दूसरा या फिर कोई भी। सुहागिनें अपने हर करवा चौथ को खास बनाना चाहती है और इसके लिए बहुत पहले से ही एक्साइटेड हो जाती है। मेकअप से लेकर कपड़ों तक सबकुछ को परफेक्ट रखती है।

आज कल लोग फैशन को लेकर किसी भी हद तक जाते है, चाहे वो कीमत हो या सबसे अलग दिखने की चाहत मे कुछ भी करते है। और फैशन डिजाइनर भी लोगों की पसंद को ध्यान रखकर अलग-अलग चीजे बनाते है।