latest yogi government

आम आदमी पार्टी ने योगी सरकार के मिशन शक्ति पर सवाल उठाते हुए कहा है कि अभियान एक सराहनीय कदम है पर अखबारों की सुर्खियों में और हकीकत में जमीन आसमान का फर्क है। पार्टी का आरोप है कि योगी सरकार सड़क से लोगों को उठा के फॉर्म भरवा के उनसे माफी मंगवाने का काम कर रही है, ये एक पॉलिटिकल स्टंट और जनता की आंखों में धूल झोंकने के अलावा और कुछ नहीं है।

योगी सरकार के वरिष्ठतम अधिकारी ही मुख्यमंत्री को अंधेरे में रखकर भ्रष्टाचार को अंजाम दे रहे हैं। वरिष्ठ आईएएस रेणुका कुमार का कच्चा -चिठ्ठा एक जूनियर आईएएस ने लोकायुक्त के सामने खोल दिया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि श्रमिकों की सम्मानजनक व सुरक्षित वापसी के लिए केन्द्र एवं उत्तर प्रदेश सरकार ने निःशुल्क ट्रेन तथा बस की व्यवस्था की है।

प्रदेश में 35,04,919 वाहनों की सघन चेकिंग में 37,999 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 16,79,08,572 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया।

उत्तर प्रदेश के निवासियों की विशेष सुविधा के लिए भारत सरकार की योजना के तहत राष्ट्रीय राशन पोर्टबिलिटी की शुरुआत 1 मई से की गई।

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए 14 अप्रैल तक पूरे देश में लॉकडाउन है। बाजार बंद हैं। ट्रेनें, बसें, हवाई जहाज, टैक्सियां कुछ भी नहीं चल रहा। ऐसे में सरकार ने लॉकडाउन खोलने की तैयारियों पर चर्चा शुरू कर दी है।

योगी सरकार ने प्रदेश में प्रदूषण नियंत्रण और पर्यावरण को संरक्षित रखने के लिए एक नए प्लान को मंजूरी है। योगी सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों को चलन को बढ़ाने के लिए यूपी में 600 इलेक्ट्रानिक बसों को चलावाने की योजना को मंजूरी दी है।

योगी सरकार भले ही अपराधियों का एनकाउंटर करके अपराध मुक्त प्रदेश बनाने का दावा कर रही हो, लेकिन महराजगंज जिले में तस्वीर कुछ और ही बया कर रही है। यहां खनन माफियाओं के हौसले इतने बुलंद है कि निडर होकर एसडीएम फरेंदा आर बी सिंह के ऊपर जानलेवा हमला कर दिए। जिसके बाद किसी तरह एसडीएम ने अपनी जान बचाई।