lifestyle

इंसान का युवावस्था होता है- उसके ख्वाब को सजाने नए नए सपने देखने का और होता विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण का। वो कही का भी इंसान हो और किसी भी जेंडर का युवावस्था में आकर्षण पैदा होना आमबात है।

फादर्स डे पर अपने पापा को स्पेशल फील कराने के बहुत से तरीके हैं लेकिन कभी-कभी शब्दों में बयां की गई बात उनके दिल में उतर जाती है  तो इस फादर्स डे अपने पापा के लिए  कुछ बच्चे मैसेज दे रहे है जिनके लिए उनकी दुनिया है उनके पापा, कुछ लोगों  के लिए उनके पापा  हीरो हैं अपने पापा को लेकर उनके क्या जज्बात हैं जानते हैं...

अक्सर आप बात बात पर लोगों रोते देखते होंगे। अगर लड़का रोएं, तो कहते है कि पागल है, क्योंकि लड़के कभी रोते नहीं है। वहीं लड़कियों के रोने पर उन्हें चुप कराया जाता है। इमोशनल कहा जाता है। यहां तक की उनका नाम 'क्राई बेबी' रख देते है। माना जाता है कि जो लोग रोते है वह दिल से कमजोर होते है। समाज उसे कमजोर मानता है, लेकिन यह बिल्कुल गलत है। हर बात पर रोते है तो ये गुण है।

आज के युग में मोबाइल के बिना किसी का काम नहीं चलता। मोबाइल ने कई तरह से काम आसान किए हैं। यह एक नशा के समान भी हो चुका है। लोग फोन का इतना ज्यादा इस्तेमाल करने लगे हैं कि अब तो रात को सोते-सोते मोबाइल देखते हैं

फैशन दीवा सोनम कपूर आहूजा एक्टिंग के साथ फैशन व फिटनेश के लिए भी जानी जाती है। बॉलीवुड की स्टाइलिश एक्ट्रेसेस  में से एक हैं सोनम। अपने फैशन और ग्लैमरस लुक के कारण वह हमेशा कवर पेज पर रहती हैं। कई मुद्दों पर बेबाकी से  राय रखने के कारण भी वह सुर्खियों बटोरती हैं।

फैशन और कॉस्मेटिक पर खर्चे के बारे में पूछे जाने पर 40 फीसदी लोगों का जवाब था कि वे पहले की तुलना में अब कम केएचआरसीएच करेंगे। 36 फीसदी लोगों ने कहा कि वे पहले की तरह ही खर्च करते रहेंगे। 14 फीसदी लोग अभी ऊहापोह की स्थित में हैं।

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में डाक्टर सबसे बड़ी भूमिका में हैं। लेकिन इन डाक्टरों की कहना है कि यदि सब लोग अपनी जीवन शैली में बदलाव लाएँ तो खुद ही इस जंग को जीत सकते हैं। हमें अपनी पुरानी परंपराओं में लौटना होगा और आदतें बदलनी होंगी।

कोरोना वायरस तो संभवतः जीवन का अंग बन चुका है। इसके अनुरूप लोगों को अपनी जीवन शैली बदलने की जरूरत है। इसके तहत खान-पान में भी कुछ बदलाव भी किए जाने लाजिमी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने खाने-पीने से संबंधित कुछ सुझाव दिये हैं, जानते हैं उनके बारे में।

दुनिया भर के देशों में कोरोना वायरस से लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं, जिस वजह से कई हजार लोगों ने अपनी जान गवां दी हैं। इसको देखते हुए के बढ़ते मामलों के बीच डॉक्टर और विशेषज्ञ शुरुआत से ही साफ-सफाई और हाइजीन मेंटेन करने की सलाह दे रहे हैं।

ऐसा हमेशा देखा जाता है कि ढलती उम्र के साथ महिलाओं को बहुत सी की बीमारियां होने लगती है। महिलाओं की छोटी-बड़ी बीमारियों से उनका स्वास्थ खराब हो जाता है।