Lock Down

शुक्रवार को देश के आठ कोर सेक्टर के आंकड़े जारी किये गए हैं। इन आंकड़ों के अनुसार अप्रैल 2020 में सभी कोर सेक्टर्स के रिकॉर्ड निचले स्तर पर फिसल चुके हैं।

देश में लॉकडाउन को लागू हुए दो महीने से भी ज्यादा समय बीत गए। लेकिन प्रवासी मजदूरों का पलायन अभी भी जारी है। इसी बीच इन मजदूरों के लिए उत्तरप्रदेश से बुरी खबर आ रही है।

एचआरडी मिनिस्टर ने कहा नई शिक्षा नीति का मसौदा तैयार हो गया है। संसद से मंजूरी मिलते ही नई शिक्षा नीति देश में लागू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि दुनिया में इतना बड़ा विमर्श पहली बार हुआ है।

कंटेनमेंट जोन में फंसी औद्योगिक सेक्टर फेस वन (सेक्टर-1 से 11) की 2800 इकाइयों को खोलने की कवायद जिला प्रशासन ने शुरू कर दी है।

श्रमिकों को अपने गंतव्य तक पहुंचाने हेतु नियमित रूप से श्रमिक स्पेशलों का संचालन किया जा रहा है। इसी क्रम में आज झाँसी से गोरखपुर तथा वाराणसी के लिए 3050 श्रमिकों को अपने गंतव्य की ओर रवाना किया गया।

कोविड वालंटियर्स ग्रुप ने भी प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए सरकार से कदमताल करते हुए बेहतरीन व्यवस्था की है। गुरूवार को भी दिल्ली से प्रवासी मजदूरो को लेकर कोविड-19 वालंटियर्स ग्रुप की छठी बस गुरूवार को सीतापुर पहुंची।

कोरोना वायरस के कारण लागू लॉकडाउन करीब दो महीने बाद आज से देश में घरेलु विमानों की आवाजाही शुरू कर दी गई। इस दौरान सभी हवाईअड्डों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है।

झाँसी मंडल द्वारा छह श्रमिक स्पेशलों का संचालन किया जा रहा है। झाँसी से देवरिया, गोरखपुर तथा बरौनी हेतु एक-एक स्पेशल तथा ललितपुर से गोरखपुर के लिए तीन ट्रेनों को चलाया जा रहा है।

विधि अध्ययन संस्थान चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ द्वारा आज एक दिवसीय वेबीनार डेजरटेशन नीड, यूटिलिटी एंड मेकैनिज्म का आयोजन किया गया।

देश में कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है। कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए पिछले दो महीने से देश में लॉकडाउन लागु है।