lohardaga

डेड बॉडी या कहे  मृत शरीर  का नाम सुनते ही मन में तरह-तरह की बातें आने लगती हैं। लोग उसके पास जाने से डरते हैं क्योंकि लोगों को लगता है कि कहीं वह डेड बॉडी उठ कर न बैठ जाए या फिर कहीं उन्हें भी अपने साथ न ले जाए।

जूट के कई वस्तुएं आज बाजार में उपलब्ध में हैं, लेकिन पहले जूट की सिर्फ रस्सियां ही मिलती थीं। बाजार में जूट के स्टाइलिश बैग, मैट, फ्लाॅवर पाॅट और कई तरह सजावटी समान मिलते हैं। ये समान घर में चार चांद लगाने का काम करते हैं।

झारखंड: डेड बॉडी का नाम सुनते ही मन में तरह-तरह की बातें आने लगती हैं। लोग उसके पास जाने से डरते हैं क्योंकि लोगों को लगता है कि कहीं वह डेड बॉडी उठ कर न बैठ जाए या फिर कहीं उन्हें भी अपने साथ न ले जाए। लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इंडिया …