lok sabha

राजस्थान के कोटा से बीजेपी सांसद ओम बिड़ला लोकसभा के नए स्पीकर होंगे। लोकसभा अध्यक्ष का नाम घोषित किए जाने के साथ ही पीएम मोदी ने एक बार फिर अपने फैसले से सबको चौंका दिया है।

देश के सारे राजनीतिक दल 19 जून को मिलकर इस मुद्दे पर विचार करेंगे कि क्या लोकसभा और विधानसभाओं के चुनाव एक साथ होने चाहिए ? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आग्रह है कि वे एक साथ होने चाहिए।

राजस्थान के कोटा से बीजेपी सांसद ओम बिड़ला लोकसभा के नए स्पीकर होंगे। इस फैसले के साथ एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चौंकाया है।ओम बिड़ला विभिन्न माध्यमों के द्वारा सामाजिक सेवा, राष्ट्र सेवा, गरीब, वृ्द्ध, विकलांग और असहाय महिलाओं की सहायता करने में रुचि रखते हैं।

कुमार सोमवार और मंगलवार को नवनिर्वाचित सासंदों को शपथ दिलाएंगे। बुधवार को नए लोकसभा अध्यक्ष की नियुक्ति के बाद उनकी भूमिका संपन्न हो जाएगी। कुमार ने भाजपा के टिकट पर मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ से लोकसभा चुनाव जीता है।

पूर्णिमा श्रीवास्तव गोरखपुर। छप्पर फाड़ जीत के बाद भी गोरखपुर-बस्ती मंडल की लोकसभा सीटों से जीते भाजपा सांसद केन्द्रीय मंत्रीमंडल में जगह बनाने में नाकामयाब रहे हैं। दिग्गजों की अनदेखी के अब न सिर्फ निहितार्थ तलाशे जा रहे हैं बल्कि सवाल भी खड़े हो रहे हैं। सवाल उठ रहा है कि आखिर क्यों जीत का …

16वीं लोकसभा का कार्यकाल 3 जून को समाप्त हो रहा है। इसकी पहली बैठक 4 जून 2014 को बुलाई गई थी और तब सदस्यों ने पद एवं गोपनीयता की शपथ ली थी।

भारती ने ट्वीट किया ‘‘हौजरानी के मतदान केंद्र 132 पर बिना कोई वोट डाले ही ईवीएम 50 वोट दिखा रही है।’’

अधिकारी ने बताया कि इन आठ सीटों पर 14 महिलाओं सहित कुल 138 प्रत्याशी मैदान में है, जिनमें से मुरैना में 25, भिण्ड में 18, ग्वालियर में 18, गुना में 13, सागर में 10, विदिशा में 13, भोपाल में 30 और राजगढ़ में 11 उम्मीदवार शामिल हैं।

भोपाल: मध्य प्रदेश के चंबल-ग्वालियर अंचल की चार में से तीन लोकसभा सीटों पर मुकाबला कड़ा है। इस बार न तो पहले की तरह भाजपा की राह आसान है और न ही कांग्रेस के लिए विधानसभा चुनाव के नतीजे दोहरा पाना। पांच माह पहले विधानसभा के चुनाव में कांग्रेस ने इस अंचल से भाजपा का …

नई दिल्ली: किसी दौर में निर्दलीय या गैर-पंजीकृत दलों के उम्मीदवार झाड़ू और बैलगाड़ी जैसे चुनाव चिन्ह लेकर मैदान में उतरते थे लेकिन अब इन चुनाव चिन्हों पर तकनीक का असर साफ नजर आ रहा है। अब लैपटाप, माउस, सीसीटीवी कैमरा और पेनड्राइव जैसे चुनाव चिन्ह लेकर उम्मीदवार मैदान में हैं। चुनाव आयोग के पास मुक्त …