#LokSabhaElection2019

लोकसभा चुनाव 2019 के चुनाव प्रचार का आज आखिरी दिन है। पिछले करीब 2 महीने से चल रहा रैलियों और भाषणों का दौर आज ही खत्म होगा।

विधायक अदिति सिंह मीडिया के सामने आते हुए खुद पर हुए हमले में रायबरेली से भाजपा के लोकसभा उम्मीदवार व पूर्व कांग्रेस नेता दिनेश प्रताप सिंह पर हमला कराने का आरोप लगाया था।

डा0 पाण्डेय ने कहा कि 2014 से पहले देश में विकास की जगह अखबारों की सुर्खियां भ्रष्टाचार व मंहगाई बनती थी। 2014 के बाद जब से हमारी सरकार आई है, तब से विकास के मामले में देश आगे बढ़ रहा है। आज मोदी की वजह से देश की अर्थ व्यवस्था भी काफी मजबूत हुई है।

भारतीय जनता पार्टी ने भरत सिंह का टिकट काट वीरेंद्र सिंह मस्त को मैदान मैं उतारकर अपनी मजबूती दर्ज कराई है । तो वही सपा बसपा गठबंधन में मजबूत प्रत्याशी की तलाश में नामांकन से ठीक एक दिन पहले जातिगत समीकरण को देखते हुए।

बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के समर्थन में खड़े होते हुए प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर आरोप लगाया है कि ममता बनर्जी की सरकार को सोची समझी साजिश के तहत टारगेट करा जा रहा है।

रॉबर्ट्सगंज, मिर्जापुर वारणशी चंदौली गाजीपुर बलिया सलेमपुर घोसी बांसगांव देवरिया गोरखपुर महराजगंज और कुशीनगर में चुनावी चक्रवहू के अंतिम चरण में जोरदार टक्कर का सामना भाजपा को करना पड़ रहा है। पूर्वांचल में सातवें चरण की 13 सीटों पर होने वाले चुनाव में सपा 8 और बसपा 5 सीटों पर चुनाव लड़ रही है।

वाराणसी, मिर्जापुर व चंदौली लोकसभा क्षेत्रों से गठबंधन प्रत्याशियों के लिए वाराणसी के सीर गोवर्धन में संयुक्त जनसभा को संबोधित करते हुए बसपा सुप्रीमों ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने गंगा मैया के साथ भी वादाखिलाफी की है। गंगा की सफाई के लिए लाखों-करोड़ों रुपये खर्च कर दिए लेकिन सफाई नहीं हुई।

ममता सरकार की एक्सपाइरी डेट करीब है। उन्होंने कहा कि जो लोग टीएमसी की सरकार को प्रश्रय दे रहे हैं, वही लोग मूर्ति पूजा को नहीं मानते हैं। जो सरकार बंगाल के लोगों की नहीं सुनती उसे वोट लेने का अधिकार भी नहीं है।

वाराणसी में प्रियंका गांधी का रोड शो मालवीय प्रतिमा से शुरू होकर अस्सी, सोनारपुरा, मदनपुरा होते हुए गोदौलिया चौराहा और काशी विश्वनाथ मंदिर तक जाएगा।

कांग्रेस नेता एवं उत्तर प्रदेश की बसपा सरकार में मंत्री रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने बसपा में पुनः शामिल होने की संभावना से इंकार करते हुए बुधवार को दावा किया कि 23 मई के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती भाजपा से मिल जायेंगी।