mahashivratri

न्याय एवं कानून मंत्री बृजेश पाठक ने राज्यपाल का स्वागत करते हुये कहा कि वे क्षेत्रीय विधायक होने के नाते राज्यपाल का कोतवालेश्वर महादेव मंदिर में स्वागत करते हैं। उन्होंने कहा कि महाशिवरात्रि पूरे देश में धूम-धाम से मनायी जाती है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रयागराज कुम्भ-2019 के प्रमुख स्नान पर्व महाशिवरात्रि के पावन अवसर पर प्रदेशवासियों, कुम्भ में स्नान हेतु देश-विदेश से पधारे संत-महात्माओं एवं श्रद्धालुओं को हार्दिक शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि महाशिवरात्रि का पावन पर्व अन्धकार तथा अन्याय पर नियंत्रण पाने का प्रतीक है।

आज महाशिवरात्रि है। भगवान भोलेनाथ को जल, बेलपत्र, फल आदि चढ़ाने और उनके दर्शनों के लिए सुबह से ही भक्त मंदिरों के बाहर खड़े हुए हैं। जल चढ़ाने के लिए शिवालयों में भक्तों का रेला उमड़ पड़ा है।

उन्होंने बताया कि कुम्भ मेला के दौरान खोया पाया में कुल 29,337 लोगों का पंजीकरण हुआ, जिसमें 762 लोग अभी तक नहीं मिल पाये हैं और उनके लिए पूरा प्रयास जारी है। रविवार की रात्रि 12 बजे से बाहरी गाड़ियों पर प्रतिबंध लगा दिया जायेगा।

देवधिदेव बाब विश्वनाथ की नगरी काशी में महाशिवरात्रि की धूम है। बाब विश्वनाथ की मंगला आरती के बाद से ही लाईन में लगे शिव भक्त बाबा का दर्शन कर रहे हैं। महाशिवरात्रि पर शिव मंदिर ही नहीं बल्कि काशी कोने-कोने में हर-हर महादेव की नारे गूंजायमान है।

सनातन धर्म में महाशिवरात्रि का विशेष महत्व प्रतिपादित है। भगवान शिव की आराधना का यह विशेष पर्व माना जाता है। पौराणिक तथ्यानुसार आज ही के दिन भगवान शिव की लिंग रूप में उत्पत्ति हुई थी। प्रमाणान्तर से इसी दिन भगवान शिव का देवी पार्वती से विवाह हुआ है। अतः सनातन धर्मावलम्बियों द्वारा यह व्रत एवं उत्सव दोनों में अति हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। वै

सहारनपुर: महाशिवरात्रि पर्व पर अलग-अलग राशि के लोगों के लिए विशेष पूजन के प्रकार का प्रावधान है। भगवान शिव यूं तो मात्र जल और बिल्वपत्र से प्रसन्न हो जाते हैं लेकिन उनका पूजन अगर अपनी राशि के अनुसार किया जाए तो अतिशीघ्र फल की प्राप्ति होती है। यह पढ़ें..8 फरवरी गुरुवार को सितारों की क्या …

सहारनपुर : आगामी 14 फरवरी 2018 को पुरे देश में महा शिवरात्रि पर्व मनाया जायेगा. इस दिन उपासक भोलेनाथ की पूजा अर्चना करेंगे. शिवरात्रि से जुड़े कुछ रहस्यों से हम आपको अवगत करायेंगे. आज हम भगवन शिव के तीसरे पुत्र के जन्म के पीछे का रहस्य बताएंगे। यूँ तो समस्त संसार शिव पुत्रों भगवान कार्तिकेय …

वाराणासी: तीनों लोक से न्यारी काशी की बात निराली है। इस शहर  में हर दिन  धार्मिक उत्सव की तरह ही होता है। जब बात महा शिवरात्री की हो ते शहर की हर गली हर चौराहा बम बम बोल रहा काशी और हर हर महादेव के उद्घोष से गूंजता है। रात बारह बजे से ही भक्त …

मेरठ: 24 फरवरी को महाशिवरात्रि बडी धूमधाम से मनायी जाएगी। भक्तजन भी महाशिवरात्रि पर भगवान शिव को खुश करने के लिए पूरी तैयारी कर रहे हैं। शिवालयों में पूरी तैयारी की जा रही है। विद्वानों के अनुसार चार पहर में म​हाशिवरात्रि पर चार पहर में पूजा और रूद्राभिषेक हर प्रकार के नकारात्मक प्रभाव को दूर …