mahbooba mufti

कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ़्ती के बाद अब पूर्व में प्रशासनिक पद पर रहे शाह फैसल पर भी बड़ी कानूनी कार्रवाई की गयी है।

उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ़्ती सहित सभी पूर्व सीएम, श्रीनगर के गुप्कर रोड पर बने उन सरकारी बंगलों में रहते हैं, जिसका किराया भी नहीं लिया जाता है । सूत्रों के मुताबिक कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्रियों ने अपने सरकारी बंगले को आधुनिक बनाने में करोड़ों रुपये तक खर्च किए हैं ।

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘रमजान का महीना कुछ दिनों में शुरू हो रहा है और इसलिए, मैं भारत सरकार से अपील करती हूं कि चूंकि हमारा राज्य मुस्लिम बहुल है और यहां लोग दिक्कतों का सामना कर रहे हैं।’’

अनुच्छेद 370 जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देता है और राज्य से संबंधित कानून बनाने के संबंध में संसद की शक्ति को सीमित करता है। मुफ्ती, शाह की उस टिप्पणी पर प्रतिक्रिया दे रहीं थी जिसमें अनुच्छेद 370 और 35ए को निरस्त करने की भाजपा की प्रतिबद्धता पर जोर दिया गया।

पीडीपी सुप्रीमो महबूबा मुफ्ती द्वारा सरकार गठन का दावा पेश किए जाने के कुछ ही समय बाद राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने राज्य विधानसभा को भंग कर दिया है।

श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर की भागदौड़ संभालते ही सूबे की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने राज्य में प्रशासनिक अधिकारियों पर चाबुक चलाया है। महबूबा मुफ्ती ने राज्य में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल करते हुए 20 आईएएस और सात केएएस अधिकारियों के तबादले का आदेश सुनाया है। कैबिनेट की बैठक में सुनाया फैसला महबूबा मुफ्ती ने मुख्यमंत्री पद …

नई दिल्ली: जम्मू एवं कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद की मौत के बाद अब उनकी बेटी महबूबा मुफ्ती मुख्यमंत्री पद संभालेगी। वे चार अप्रैल को इस पद की शपथ लेंगी। इस शपथ ग्रहण समारोह में केंद्र का प्रतिनिधित्व संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू और राज्यमंत्री जीतेंद्र सिंह  करेंगे। ऐसी खबरें भी आ रही थीं …