mamta banerjee

पश्चिम बंगाल में ममता सरकार ने लॉकडाउन को 31 जुलाई तक बढ़ा दिया है। प्रदेश में लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं जिसके बाद राज्य सरकार ने यह बड़ा फैसला लिया है। पश्चिम बंगाल में स्कूल और कॉलेज 31 जुलाई तक पहले से ही बंद कर दिए गए हैं।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 24 जून की दोपहर में सर्वदलीय बैठक बुलाई है। इसके लिए विपक्षी दलों भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी), कांग्रेस और वामपंथी पार्टियों समेत सभी दलों के नेताओं को निमंत्रण दिया है।

तमाम चुनौतियों से जूझ रहे पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी ने अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को उखाड़ फेंकने के लिए कैंपेन लॉन्च कर दिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अम्फान तूफान से प्रभावित पश्चिम बंगाल का शुक्रवार को दौरा करेंगे। अम्फान की वजह से प्रदेश के दक्षिणी हिस्से में नुकसान का आकलन करने के लिए पीएम मोदी बंगाल के दौरे पर जाएंगे।

चक्रवाती तूफान अम्फान का खतरा अभी टला नहीं है। तूफान पश्चिम बंगाल और उड़ीसा की तरफ से काफी तेज गति के साथ बढ़ रहा है। केंद्र सरकार इसको लेकर चिंतित है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को एक पत्र लिखा है। इस चिट्ठी में उन्होंने उन तमाम मजदूरों का जिक्र किया है, जो लॉकडाउन के चलते इंदौर में फंसे हैं।

पश्चिम बंगाल के स्वास्थ्य सचिव विवेक कुमार को हटा दिया गया है। उन्हें पर्यावरण विभाग भेजा गया है। दरअसल, कोरोना को लेकर ममता सरकार पर कई आरोप लग रहे हैं। खास तौर पर डेटा छिपाने की तोहमत लगाई गई थी।

ममता बनर्जी के तेवर सबसे ज्यादा सख्त थे। केंद्र की मोदी सरकार से राज्य लगातार मांग कर रहे थे कि उन्हें ज्यादा अधिकार दिये जाएं और आर्थिक गतिविधियों को लेकर उन्हें फैसला करने का अधिकार दिया जाए।