mars

 बीते शुक्रवार को अमेरिका की स्पेसएक्स कंपनी के स्टारशिप रॉकेट प्रोटोटाइप में परीक्षण करते समय भयानक विस्फोट हो गया। ये विस्फोट एक साल में चौथी बार हुआ है जब स्पेसएक्स का स्टारशिप प्रोटोटाइप हादसे का शिकार हुआ है।

ग्रहों की स्थिति का व्यक्ति के जीवन में और उसकी  में महत्लपूर्ण स्थान है। जीवन में कुंडली और ग्रहों का बड़ा महत्व माना जाता हैं। जीवन में आना वाला समय कैसा होगा यह ग्रहों की स्थिति पर निर्भर करता हैं।

बात अगर स्पेस की हो और नासा का नाम न आए ऐसा हो नहीं सकता। नासा से जुड़ी एक बद्दी खबर आ रही है। सौर मंडल के मंगल ग्रह को लेकर वैज्ञानिक कई तरह के दावे कर चुके हैं।

अमेरिकी वैज्ञानिकों को मंगल ग्रह पर डेड बॉडी मिली है। जिसका सर, शरीर और पैर है। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के वैज्ञानिकों के साथ पूरी दुनिया के वैज्ञानिक इस डेड बॉडी की फोटोज पर रिसर्च कर रहे हैं। ताकि पता चले कि क्या वाकई में मंगल ग्रह पर जीवन हैं या नहीं।

मंगल ग्रह पर सतह से नीचे पानी की सक्रिय मौजूदगी हो सकती है और यह शायद इस लाल ग्रह के चंद इलाकों में सतह से ऊपर बहने वाले पानी में अपना योगदान दे रहा हो।

नासा का मार्स इनसाइट लेंडर सोमवार को लगातार सात महीने की यात्रा के बाद मार्स की सतह पर सफलतापूर्वक उतर गया। मार्स इनसाइट लेंडर भारतीय समयानुसार सोमवार मध्य रात्रि के बाद 1.30 बजे मंगल की धरती पर उतरा।

जयपुर: शनि और मंगल को एक दूसरे का शत्रु माना जाता है। ज्योतिष में इन ग्रहों का आमने सामने होना अच्छा नहीं माना जाता है। शनि और मंगल का यह योग बहुत ही खतरनाक होता है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार शनि और मंगल का यह दृष्टि संबंध योग 26 नवंबर 2017 तक रहेगा।ज्योतिषियों के अनुसार पिछली …

जयपुर: मंगल अपनी मित्र राशि सिंह छोड़ कर शत्रु बुध की राशि कन्या में 13 अक्तूबर की शाम 05 बजकर 58 मिनट पर प्रवेश करेंगे। 30 नवंबर की सुबह मंगल कन्या राशि को छोड़ कर तुला राशि में प्रवेश करेंगे। मंगल का यह परिवर्तन मेष, कर्क और वृश्चिक राशि वालों को लाभ प्रदान करेगा तो वृष, मिथुन, …

लखनऊ: मंगल ग्रह 11 जुलाई 2017 को कर्क राशि में गोचर करेगा। मंगल दोपहर 3:20 बजे कर्क राशि में प्रवेश करेगा और 27 अगस्त 2017 को सुबह 08:51 बजे तक कर्क राशि में स्थित रहेगा। वैदिक ज्योतिष के अनुसार मंगल के इस गोचर का सभी 12 राशियों पर प्रभाव पड़ेगा। मेष: मंगल ग्रह आपकी राशि …

सन फ्रांसिस्को:  अमेरिकी अंतरिक्ष अनुसंधान एजेंसी नासा में स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के सिविल इंजिनीयर अन्य शोधकर्ताओं के साथ मंगल ग्रह या चंद्रमा की सतह पर मौजूद चट्टानों से कंक्रीट या सीमेंट बनाने की संभावना तलाश रहे हैं। नासा 2030 तक मंगल पर मनुष्य को ले जाने और वहां रुकने की व्यवस्था बनाने की योजना पर काम …