mayawati

बाराबंकी के जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर ज्ञापन देने के लिए इकट्ठा हुए यह लोग बहुजन समाज पार्टी के नेता कार्यकर्ता है ।

मायावती को हिंदी का ज्ञान नहीं है, क्योंकि आज तक किसी ने मायावती को अपना भाषण लिखते हुए नहीं देखा। जो चार बार प्रदेश का मुख्यमंत्री रहा हो, वह अपना भाषण खुद से देगा।

बसपा प्रमुख मायावती को निशाने पर लेते यह भाजपा के फायरब्रांड नेता रंजीत बहादुर श्रीवास्तव है। रंजीत बहादुर हमेशा अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहते है, नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष का चुनावी मंच हो, लोकसभा का चुनावी मंच हो या फिर कोई अन्य गम्भीर मामला हर मौके पर रंजीत बहादुर मीडिया की सुर्खियां बटोर लेते हैं।

मायावती ने सोमवार को प्रेसवार्ता में खुलासा करते हुए कहा कि भाजपा तो कांग्रेस की भी बाप निकली, सीबीआई व ईडी का इस्तेमाल कर उन्हे परेशान करने की कोशिश की गई।

बसपा के 6 विधायक अखिलेश खेमे में चले जाने के बाद सपा बसपा में हाल में शुरू हुई थी जुबानी जंग और विधायकों की तोड़ फोड़ को लेकर उत्तर प्रदेश की राजनीति गरमाई हुई है जिसके चलते मायावती ने बयान देते हुए कहा था

बसपा सुप्रीमों मायावती ने रविवार सुबह ट्वीट कर कहा कि उत्तर प्रदेश की 07 व मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के लिए हो रहे उपचुनाव हेतु प्रचार की आज समाप्ति के साथ ही आगामी 03 नवंबर के मतदान पर सभी का ध्यान केंद्रित है।

लोकसभा चुनाव से पहले बसपा के साथ हुए गठबंधन में बुआ का सम्मान करने वाले भतीजे के रूप में दिखाई दिए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पहली बार मुखर हुए हैं।

बसपा सुप्रीमों ने कहा कि पहले की सरकारें गरीबी, बेरोजगारी और आरक्षण सहित सभी मुद्दों पर विफल रही हैं। उन्होंने यूपी में अपनी 2007 की सरकार का उदाहरण देते हुए कहा कि अगर बिहार में उनके फ्रंट की सरकार बनती है