mission shakti

डीआरडीओ के प्रमुख जी. सतीश रेड्डी ने कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए शानिवार को कहा कि मिशन शक्ति की प्रकृति ऐसी है कि इसे किसी भी सूरत में गोपनीय नहीं रखा जा सकता है।

भारत ने 27 मार्च को निचली कक्षा के अपने एक उपग्रह को जमीन से अंतरिक्ष में मार करने वाली मिसाइल से मार गिराया था और अंतरिक्ष ताकत बन गया था। इससे पहले केवल तीन देशों- अमेरिका, रूस और चीन के पास ए सैट क्षमता थी।

भारत के मिशन शक्ति पर अब नासा की तरफ से रिएक्शन आया है। नासा ने भारत के इस मिशन को खतरनाक बताया है। नासा की तरफ से बताया गया है कि इस एंटी सैटेलाइट मिसाइल के टेस्ट से अंतरिक्ष में मलबे के करीब 400 टुकड़े और बढ़ गए हैं।

मिशन शक्ति’ की उपलब्धि के बारे में बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन से चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत पर चुनाव आयोग ने दूरदर्शन और आकाशवाणी से प्रसारण की फीड का स्रोत एवं अन्य जानकारियां मांगी हैं।

भारत के उपग्रह भेदी मिसाइल के सफल परीक्षण की सराहना करते हुए शिवसेना ने बृहस्पतिवार को कहा कि यह इसलिए संभव हुआ, क्योंकि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं। शिवसेना ने 'मिशन शक्ति' को भारत की बड़ी उपलब्धि बताते हुए अपने मुखपत्र 'सामना' में छपे संपादकीय में कहा, 'मोदी हैं तो मुमकिन है।

चुनाव आयोग ने पीएम नरेंद्र मोदी के मिशन शक्ति की घोषणा के संबोधन को आचार संहिता का उल्लंघन नहीं माना है । आयोग ने कहा है कि मोदी के संबोधन में किसी भी तरह से उनकी पार्टी का प्रचार नहीं किया है।  प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में वोट की अपील नहीं की थी।

ऑपरेशन शक्ति पर पीएम नरेंद्र मोदी का राष्ट्र के नाम संदेश पर कई पार्टियों ने आपत्ति जातायी है।मामला चुनाव आयोग पहुंच गया है। कई पार्टियों ने इस पर ऐतराज जताते हुए चुनाव आयोग से पूछा है कि आखिर पीएम को इसकी घोषणा करने की इजाजत क्यों दी गई?

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मिशन शक्ति को लेकर राष्ट्र को संबोधित करने के तुरंत बाद इस सफल अभियान के संचालन में शामिल वैज्ञानिकों से विडियो कांफ्रेंस के माध्यम से बातचीत की और उन्हें बधाई दी ।