monsoon

देश में मानसून अपने अंतिम चरण में है लेकिन फिर कई राज्यों में इसने उत्पाद मचा रखा है। देश के यूपी, बिहार, मध्य प्रदेश के साथ कई पूर्वोत्तर इलाकों की हालत खराब होती जा रही है। और अब मानसून ने फिर रफ्तार पकड़ ली है।

मगर ज्यादा बारिश से जलजमाव की समस्या होगी। इसकी वजह से चर्म रोग के मामले बढ़ेंगे। यही नहीं, भारी बारिश की वजह से तापमान में गिरावट दर्ज की जाएगी, जिसकी वजह से सर्दी के मामले बढ़ जाएंगे। इससे खांसी भी बढ़ेगी।

नई दिल्ली: इस मानसून के दौरान देन श में जल संरक्षण का बड़ा इम्तेहान होने वाला है। जल संरक्षण के लिए पहले भी ढेरों योजनाएं चलाई जा चुकी हैं लेकिन इस बार एक समयबद्ध अभियान के रूप में यह काम किया जा रहा है। यह अभियान पूरे मानसून के दौरान ढाई सौ से ज्यादा जिलों …

उत्तर भारत में बारिश का मौसम दस्तक देने वाला है। अगर आपको भी इस बार मॉनसून का असली मजा लेना है, तो तैयार हो जाइए क्योंकि हम आपको कुछ ऐसी शानदार जगह के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां बारिश में आपका मजा दोगुना हो जाएगा।

धीमी शुरुआत के बाद मानसून ने रफ्तार पकड़ी है और पिछले चार दिनों में मानसून ने 10 राज्यों को कवर किया है। इन राज्यों में भारी बारिश हो रही है जो भीषण गर्मी से परेशान लोगों के लिए बड़ी राहत जैसा है।

दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के लगभग एक पखवाड़े की देरी के बाद शुक्रवार को गोवा पहुंचने का अनुमान है। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

मुंबई में इस सीजन की पहली बारिश हुई जिससे तापमान में जबरदस्त गिरावट हुआ। मॉनसून से पहले ये बारिश जितनी राहत लेकर आई है उतनी ही आफत भी साथ लाई है। मुंबई में अगले 24 से 48 घंटों के लिए अलर्ट जारी किया गया है।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक एच आर बिस्वास ने बताया कि मानसून के अगले चार-पांच दिन में ओडिशा पहुंचने की संभावना नहीं है और इसके आगमन के बारे में अभी किसी स्पष्ट तारीख की घोषणा नहीं की गई है।

भारी गर्मी से लोगों को राहत मिल सकती है। आज मानसून दो दिनों की देरी से केरल में दस्तक देगा और इसी के साथ देश भर में अलग-अलग इलाकों में करीब चार महीने की बारिश के मौसम का आगाज होगा।

मौसम संबंधी भविष्यवाणी करने वाली निजी कंपनी स्काईमेट ने भी शनिवार को अपने पूर्वानुमान को संशोधित करते मानसून के आने की तिथि को चार जून से सात जून किया।