moon

धर्मेंद्र अनिजा ने लूना सोसाइटी इंटरनेशनल के माध्यम से ये जमीन खरीदी है। उन्होंने बताया कि प्रक्रिया को पूरा होने में लगभग एक साल लग गया।

चाइना नेशनल स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन ने चांगई-5 स्पेसक्राफ्ट को चांद की उस सतह पर उतारा था, जहां पर करोड़ों साल पहले ज्वालामुखी होते थे। ये चांद का उत्तर-पश्चिम का इलाका है, जो हमें आंखों से दिखाई देता है।

चीन का स्पेसक्राफ्ट चांग ई-5 (Chang'e-5) चंद्रमा की सतह पर सफलतापूर्वक उतर गया। यह अंतरिक्षयान चांद की धरती से पत्थरों का सैंपल कलेक्ट कर धरती पर लाएगा। 

जापान के ह्योगो परफेक्चर के आकाशी म्यूनिसिपल प्लेनेटेरियम के डायरेक्टर ताकेशी इनोउ ने कहा कि उल्का जितनी तेज चमका था, उससे बहुत बड़े इलाके में रोशनी हो गई थी।

नासा ने कहा कि वह 2024 में चंद्रमा पर पहली महिला और एक पुरुष एस्ट्रॉनॉट को उतारेगा। इसके लिए योजना बनाई गई है और उस पर काम भी शुरू कर दिया गया है।

21 अगस्त यानी आज चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर को चांद की कक्षा में पहुंचे हुए पूरा एक साल हो गया है। ऐसे में इतने दिनों में चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर ने चांद की कक्षा में 4400 चक्कर लगाए हैं।

कोरोना संकट के बीच शनिवार से देश में रमजान का पाक महीना शुरू होने जा रहा है। दिल्ली की फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम ने शुक्रवार शाम को घोषणी की कि रमजान का चांद देख लिया गया है।

मनुष्य का व्यवहार समय समय पर बदलता रहता है। कई बार खुद के व्यवहार पर आश्चर्य भी होता है आप किसी के साथ तो बहुत विनम्र तो किसी के साथ न चाहते हुए भी कठोर हो जाते हैं। दरअसल हम अपने आस-पास के लोगों के साथ किस तरह का व्यवहार करते हैं।

सम्वत्सर 2077 का आरम्भ यद्यपि 25 मार्च बुधवार,रेवती नक्षत्र को उदयव्यापिनी तिथि में होगा किन्तु 24 मार्च 2020 को अमावस्या तिथि 14:56 बजे समाप्त हो जाएगी तथा 14:57 बजे से नववर्ष की प्रतिपदा का आरम्भ कर्क लग्न में होगा। उस समय की आकाशीय कौंसिल के अनुसार कर्क, मकर      (लग्न एवं सप्तम) में शनि-मंगल का विध्वंसकारी योग तथा षष्ठ-द्वादश भाव में कालसर्प योग राष्ट्र के लिए जन-धन हानि और उपद्रव लेकर आ रहा है।

चन्द्रमा मन का कारक है। धर्म में 'चंद्रमा मनसो जात:'। इसकी राशि कर्क है। कुंडली में चंद्र अशुभ होने पर मां को किसी भी प्रकार का कष्ट या सेहत का खतरा होता है, दूध देने वाले पशु की मृत्यु हो जाती है। स्मरण शक्ति कमजोर हो जाती है। घर में पानी की कमी आ जाती है या नलकूप, कुएं आदि सूख जाते हैं।