Mutual Funds

निवेशकों को म्यूचुअल फंड्स में निवेश करने की सलाह दी जाती रही है। लेकिन इस बार जिस तरह से शेयर बाजार में गिरावट की आंधी चली है, उसने शेयर बाजार में निवेश करने वालों से ज्यादा नुकसान म्यूचुअल फंड्स निवेशकों को पहुंचाया है। 

अगर कोई भी नौकरी शुरू करता है, तो वो सोचता है कि वो जल्द ही अमीर बन जाए। लेकिन ये चीज बहुत ही कम लोगों के साथ होता है।

चुनाव लड़ रहे नेताओं की निवेश की पसंद की यदि बात की जाए तो बैंकों की सावधि जमा और कर मुक्त-बांड इन नेताओं की पहली पसंद है। इसके बाद विभिन्न कंपनियों के म्यूचुअल फंड और रिलायंस इंडस्ट्रीज जैसी कंपनियों के शेयर भी इन नेताओं के निवेश पोर्टफोलियो में शामिल हैं।