nasa

2011 के बाद  अमेरिका एक नया इतिहास रचने की कगार पर आकर रूक गया। खराब मौसम की वजह से अमेरिका का मानव मिशन रोकना पड़ गया। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा अपने स्पेस सेंटर से दोनों एस्ट्रोनॉट्स (Astronauts) को अमेरिकी रॉकेट में बिठाकर इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (ISS) भेजेने वाला था।

कोरोना वायरस से के बीच अमेरिका एक नया इतिहास गढ़ने जा रहा है। महज 48 घंटे के बाद अमेरिका के विज्ञान का इतिहास बदल जाएगा। अमेरिका बहुत ही जल्द अंतरिक्ष विज्ञान की दुनिया में एक नया कदम रखने वाला है।

दुनिया पर वैसे ही खतरा कम नहीं हो रहा और एक न एक कोई नया संकट पहले ही खड़ा हो जा रहा है। ऐसे में वैज्ञानिकों का कहना है कि सूरज की रोशनी धीरे-धीरे कम होती जा रही है।

इस मैसेज में यह भी कहा जा रहा है कि संभव हो तो इस बीच में दिल्ली से कहीं बाहर चले जाएं। भूकंप का केंद्र गुरुग्राम को बताया जा रहा है। यह भी कहा जा रहा है कि इस भूकंप का असर पाकिस्तान से लेकर यूपी और बिहार तक रहेगा।

कोरोना वायरस की चपेट में दुनिया के करीब 164 देशों में अपना पैर पसार चुका है। इस वायरस से 8 हजार से ज्यादा लोग मर चुके हैं और 2 लाख से ज्यादा लोग बीमार है।

अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा से जुड़ी एक बड़ी खबर आई है। इसके वैज्ञानिकों ने एक ऐसे एस्टेरॉयड (छोटा तारा) की खोज की है। जो पूरी तरह से लोहे का बना है।

अंतरिक्ष मिशन पर भेजे जा रहे नासा के अंतरिक्ष यात्रियों को रॉकेट में खराबी आने के बाद उसे आसानी से जमीन पर उतारा जा सकेगा। इसके लिए एक सफल परीक्षण भी किया गया है।

 अंतरिक्ष एजेंसी नासा की ट्रांजिटिंग एक्सोप्लेनेट सर्वे सैटेलाइट (टीइइएस)ने एक जीवन के अनुकूल यानी रहने योग्य ग्रह की खोज की है और सबसे बड़ी बात कि यह पृथ्वी के आकार का है। यह ग्रह अंतरिक्ष के उस क्षेत्र में है, जहां उसकी सतह पर पानी के अस्तित्व के अनुकूल परिस्थितियां मौजूद हैं।

सोमवार को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा को इस साल सितंबर में चंद्रमा की सतह पर दुर्घटनाग्रस्त हुए चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर का पता लग चुका है।

NASA को उम्मीद है कि इस बार पराली 200 मीट्रिक टन ज्यादा निकलेगा, जिसकी वजह से प्रदूषण और होगा। नासा का कहना है कि 2 किलोग्राम सल्फर डाईऑक्साइड (SO2), 3 किलोग्राम पर्टिकुलेट मैटर (PM), 60 किलोग्राम कार्बन मोनोऑक्साइड (CO), 1,460 किलोग्राम कार्बन मोनोऑक्साइड (CO2) और 199 किलोग्राम राख परानी जलाने से पैदा होती है।