nasa

ट्रांजिस्टिंग एक्सोप्लेनेट्स सर्वे सैटेलाइट (टीईएसएस) ने उसी मंडल में वरुण ग्रह के आकार के एक ग्रह की खोज की है। यह अध्ययन एस्ट्रोफिजिकल जर्नल लैटर्स में प्रकाशित हुआ है।

भारत ने 27 मार्च को निचली कक्षा के अपने एक उपग्रह को जमीन से अंतरिक्ष में मार करने वाली मिसाइल से मार गिराया था और अंतरिक्ष ताकत बन गया था। इससे पहले केवल तीन देशों- अमेरिका, रूस और चीन के पास ए सैट क्षमता थी।

नासा प्रशासक जिम ब्राइडेंस्टाइन ने बताया कि अभी तक करीब 60 टुकड़ों का पता लगाया गया है और इनमें से 24 टुकड़े आईएसएस के दूरतम बिन्दु से ऊपर हैं।

भारत के मिशन शक्ति पर अब नासा की तरफ से रिएक्शन आया है। नासा ने भारत के इस मिशन को खतरनाक बताया है। नासा की तरफ से बताया गया है कि इस एंटी सैटेलाइट मिसाइल के टेस्ट से अंतरिक्ष में मलबे के करीब 400 टुकड़े और बढ़ गए हैं।

नासा का मार्स इनसाइट लेंडर सोमवार को लगातार सात महीने की यात्रा के बाद मार्स की सतह पर सफलतापूर्वक उतर गया। मार्स इनसाइट लेंडर भारतीय समयानुसार सोमवार मध्य रात्रि के बाद 1.30 बजे मंगल की धरती पर उतरा।

जयपुर: मार्स इनसाइट लेंडर  के बारे में जो खोलेगा पृथ्वी के “रहस्य” ! अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ‘नासा’ का ‘मार्स इनसाइट लेंडर’ सोमवार रात मंगल की धरती पर उतरने वाला है और इससे हमें पृथ्वी के बारे में और जानकारी मिल सकती है। रिपोर्ट के अनुसार, यह यान ग्रह की आंतरिक संचरना का अध्ययन करने के …

वाशिंगटन : अमेरिकी अंतरिक्ष शोध एजेंसी नासा ने 60 साल पूरे कर लिए हैं। जानते हैं नासा से जुड़े कुछ                    दिलचस्प तथ्य : सोवियत संघ ने 1957 में अपना सैटेलाइट स्पूतनिक प्रक्षेपित किया, जिससे अंतरिक्ष में सोवियत संघ का दबदबा होने की आशंकाए पैदा होने लगीं। …

नई दिल्ली : दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में गिरावट के लिए पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में पराली जलाने की गतिविधियों को अक्सर जिम्मेदार ठहराया जाता है। एक ताजा अध्ययन में पता चला है कि यह प्रदूषण अब महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, तेलंगाना और छत्तीसगढ़ तक पहुंच रहा है। विभिन्न स्रोतों से प्राप्त सूचनाओं …

वाशिंगटन :अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने गुरुवार को घोषणा की कि मंगल पर 2012 में उतरे खोजी रोबोट क्यूरियोसिटी को चट्टानों में तीन अरब साल पुराने कार्बनिक अणु मिले हैं। यह खोज इशारा करती है कि उस समय इस ग्रह पर जीवन रहा होगा। नासा के सौर प्रणाली अन्वेषण विभाग के निदेशक पॉल महाफी ने कहा कि …

जयपुर: इन दिनों दुनिया के 64 अलग-अलग जगहों पर सुनी गए तेज, रहस्यमयी धमाकों ने लोगों से लेकर अंतरिक्ष एजेंसियों को अचंभे में डाल दिया है। इन सभी जगहों पर हुए धमाकों के बारे में दुनिया की सबसे बड़ी स्पेस एजेंसी नासा ( NASA) को भी है और वो खुद हैरान है। अमेरिका के अलाबाम्बा इलाके …