nature

हर इंसान एक-दूसरे से अलग होता है उसके सोचने  रहने सहने का ढंग एक-दूसरे अलग होता है। और हम लाख चाहकर भी सामने वाले को नही समझ पाते है। लेकिन एक तरीका है जिससे हम दूसरे के स्वभाव का पता लगा सकते है। हर किसी की जन्मदिनांक और जन्म का वार अलग-अलग होता है।

पृथ्वी गृह का सबसे बड़ा धर्म प्रकृति धर्म ही है। प्रकृति से खिलवाड़ करने वाले जहाँ प्रकृति के प्रकोप से अपने घरों में रहने को विवश हैं।

मनुष्य द्वारा प्रकृति का अंधाधुंध दोहन करने के कारण ही आज जैविक विविधता का चक्र असंतुलित हो गया है। जिसकी वजह से बहुत सी बीमारियां एवं महामारियों का सामना मनुष्य को करना पड़ रहा है

इनके साथ सभी को मजा आता है। ये लोग रहस्यमय स्वभाव के होते हैं। इन्हें समझ पाना बेहद मुश्किल है। इन लोगों में गजब का आत्मविश्वास होता है। ये लोग ईमानदार होते हैं। पर कभी-कभी इन्हें लोगों की भावनाओं का ख्याल नहीं रहता है।

लड़के, लड़कियों की तरफ आकर्षित तो होते हैं, लेकिन उन्हें अपनी ओर आकर्षित करने में विफल होते हैं। क्योंकि इसके लिए जरूरी होता है ये जानना कि लड़कियों  की पसंद क्या हैं और उसका स्वभाव कैसा हैं। 

आंखें इंसान के मन का आईना होती हैं, जिन्हें देखकर आप उस इंसान के दिल में झांक सकते हैं। दुनिया में कई रंग की आंखें देखी होगी जैसी- भूरी, नीली, लाल रंग की। लेकिन क्या आपने कभी हरे रंग की आंख देखी है शायद नहीं। समुद्रशास्त्र के मुताबिक आंखों के रंग का इंसान के नेचर से गहरा ताल्लुक होता है। आंखों के रंग से आप बड़ी ही आसानी से किसी भी शख्स की पर्सनालिटी के बारे में जान सकते हैं।

कहते हैं चेहरा इंसान का आईना होता हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चेहरा से  इंसान के स्वभाव को आसानी से पढ़ सकते है। चेहरे का हर अंग चाहे वो आंख, नाक, कान या फिर होंठ हो कुछ ना कुछ जरूर कहता है, आज हम  दांतों के बारें में बताने जा रहे हैं। आप देखते होंगे कि ज्यादातर लोगों के दांतों के बीच गैप होते हैं।

अप्रैल में जन्म लेने वाले लोगों के व्यक्तित्व का कई रंग होता है। ये लोग ज्यादातर परिस्थितियों में सामंजस्य बिठाने की कोशिश करते हैं। ये लोग मजाकिया और माहौल को हल्का रखते हैं। ये लोग जिद्दी स्वभाव के भी होते हैं और दूसरों से पहले ही अपनी बात कहना पसंद करते हैं। हर विषय में इनकी राय इनके लिए सटीक होती है। ये

साल के बारह महीनों का अपन-अलग ही महत्व है और आपको हम बताने जा रहे है कि आप के व्यक्तित्व में आपके जन्म के महीने से कौन से गुण स्वतः ही आता हैं। इस कड़ी में सबसे पहले जनवरा में जन्मे लोगों का स्वभाव जानते हैं।

सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार व्यक्ति के विभिन्न अंगों की संरचनाओं के आधार उसके स्वभाव के बारे में पता चलता है। समुद्र शास्त्र में स्त्रियों की छाती व नाभी व पैर की संरचना के आधार पर उनके स्वभाव के बारे में बताया गया है। समुद्र शास्त्र के अनुसार स्त्री की छाती की संरचना व नाभी को देखकर उसके  स्वभाव  विशेषताओं के बारे में बताया गया है।