ncp

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 के लिए जीत के लिए सभी पार्टियों ने पूरा जोर लगा दिया है। मंगलवार को शरद पवार की पार्टी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने अपने सात उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया।

एनसीपी नेता और महाराष्ट्र की कर्जत विधानसभा सीट से विधायक रोहित पवार की एक 'फोन कॉल' काफी चर्चा में है। रोहित पवार महाराष्ट्र के संगमनेर में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे। इस दौरान उनके साथ मंच पर शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे भी मौजूद थे। इसी मंच से रोहित पवार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र को एक 'कॉल' किया

महाराष्ट्र में कांग्रेस और एनसीपी के मंत्रियों के बीच बंगले और विभागों को लेकर खींचतान थमने का नाम नहीं ले रहा है। पूर्व कांग्रेसी सांसद यशवंतराव गडाख ने दोनों पार्टियों को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि यह जारी रहता है तब उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ेगा।

महाराष्ट्र सरकार के मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा गया है। इनमें एनसीपी के नेताओं समेत कांग्रेस और शिवसेना के मंत्रियों को उनके कद के आधार पर विभाग दिए गये हैं। जल्द ही सभी मंत्री अपने अपने विभागों का चार्ज भी ले लेंगे।

देवी प्रसाद त्रिपाठी ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के महासचिव के तौर पर पार्टी की जिम्मेदारी संभाली हुई थी। त्रिपाठी को एनसीपी प्रमुख शरद पवार का बेहद करीबी माना जाता था। उनका पिछले साल ही राज्यसभा से कार्यकाल समाप्त हुआ था।

बता दें कि महाराष्ट्र के बीड जिले के मजलगांव सीट से एनसीपी विधायक प्रकाश सोलंके ने कहा कि वह विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देंगे, क्योंकि वह राजनीति करने के लिए अयोग्य हैं।

महाराष्ट्र में सरकार गठन के बाद अब शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की गठबंधन की सरकार में मंत्रालयों को बंटवारा हो गया है। इस बंटवारे में शिवसेना को गृह मंत्रालय मिला है। इसके साथ ही शिवसेना को शहरी विकास और पर्यावरण मंत्रालय भी दिया गया है।

NCP के अध्यक्ष व दिग्गज नेता शरद पवार का आज बर्थडे है। इनका पूरा नाम शरद गोविंदराव पवार है वो एक वरिष्ठ भारतीय राजनेता है।

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने अपने स्पीकर कैंडिडेट का नाम वापस ले लिया है। बीजेपी ने इस पद के लिए किसान कठोरे का नाम प्रस्तावित किया था लेकिन बाद में इसे वापस ले लिया गया।