nirbhaya rape case

निर्भया गैंगरेप और हत्याकांड के चारों दोषियों की फांसी की तीसरी तारीख पर कोर्ट ने फैसला सुना दिया है। अब चारों दोषियों को 3 मार्च को सुबह छः बजे फांसी दी जाएगी।

निर्भया रेप केस में चारों दोषी एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में क्यूरेटिव पिटीशन (Curative petition) दाखिल कर सकते हैं।

वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने ट्वीट करते हुए कहा है, मैं आशा देवी का दर्द पूरी तरह से समझती हूं। फिर भी मैं उनसे अपील करती हूं कि वह सोनिया गांधी के उदाहरण का अनुसरण करें, जिन्‍होंने नलिनी को माफ कर दिया और कहा कि वह उनके लिए मृत्युदंड नहीं चाहतीं।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कांग्रेस और आम आदमी पार्टी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने सिख दंगों को लेकर कहा कि दोषियों पर कांग्रेस ने कोई कार्रवाई..

निर्भया गैंगरेप केस में दोषी मुकेश सिंह ने फांसी से बचने के लिए अब आखिरी दांव चला है। उसने मंगलवार को राष्ट्रपति के सामने दया याचिका दाखिल की।

निर्भया रेप-मर्डर केस के एक दोषी ने गृह मंत्रालय द्वारा राष्ट्रपति को भेजी गई अपनी दया याचिका वापस लेने की मांग की है।  निर्भया कांड में राष्ट्रपति के समक्ष दया याचिका की गुहार लगाने वाले एक दोषी विनय शर्मा ने अपनी याचिका को तुरंत वापस लेने की मांग की है।

हैदराबाद में महिला डॉक्टर से गैंगरेप और हत्या के सभी चारों आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया। पुलिस आरोपियों को एनएच-44 पर क्राइम सीन रिक्रिएट कराने के लिए लेकर गई थी। पुलिस ने बताया कि चारों आरोपियों ने मौके से फरार होने की कोशिश की।

देश की राजधानी दिल्ली में 16 दिसंबर 2012 हुआ वो झकझोर के रख देने वाले निर्भया रेप कांड सभी को याद है। इसी से जुड़ी नई खबर आ रही है।

गैंगरेप के चारों दोषी तिहाड़ जेल में बंद हैं और चारों दोषियों को तिहाड़ जेल प्रशासन ने राष्ट्रपति के पास दया याचिका दाखिल करने के लिए सात दिनों का वक्त दिया है। इस नोटिस की अवधि 4 नवंबर को खत्म हो जाएगी। अगर दोषी दया याचिका दाखिल नहीं करते हैं तो जेल प्रशासन निचली अदालत को सूचित करके सभी की फांसी के लिए ब्लैक वारंट लेने की कार्रवाई शुरू कर देगा।