nirbhaya rape case

गैंगरेप के चारों दोषी तिहाड़ जेल में बंद हैं और चारों दोषियों को तिहाड़ जेल प्रशासन ने राष्ट्रपति के पास दया याचिका दाखिल करने के लिए सात दिनों का वक्त दिया है। इस नोटिस की अवधि 4 नवंबर को खत्म हो जाएगी। अगर दोषी दया याचिका दाखिल नहीं करते हैं तो जेल प्रशासन निचली अदालत को सूचित करके सभी की फांसी के लिए ब्लैक वारंट लेने की कार्रवाई शुरू कर देगा।

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप मामले में सोमवार (9 जुलाई) यानी आज एक बड़ा फैसला सुनाया है। कोर्ट की तीन जजों की संविधान पीठ में शामिल प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति आर भानुमति और न्यायमूर्ति अशोक भूषण ने मुकेश (29), पवन गुप्ता (22) और विनय शर्मा की सजा को बरकरार रखते हुए उनकी …

नई दिल्ली: दिल्ली में निर्भया कांड के पांच साल बाद राष्ट्रीय राजधानी महिलाओं के लिए दिल्ली कितनी सुरक्षित हुई है? 16 दिसंबर की रात पांच दरिंदों ने 23 वर्षीया निर्भया के साथ क्रूरतम तरीके से सामूहिक दुष्कर्म किया था। निर्भया ने मौत से 13 दिन तक जूझते हुए इलाज के दौरान सिंगापुर में दम तोड़ दिया …