nirmala sitaraman

उपभोक्ताओं मामलों के मंत्रालय द्वारा कहा गया कि अब तक लगभग 30,000 टन दालों का वितरण किया गया है और इस काम में मई के पहले सप्ताह में और तेजी आयेगी।

टैक्स को लेकर वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि आयकर व्यवस्था में 127 प्रकार की छूट है। ऐसे में कोई कर्मचारी नौकरी करेगा या यह देखेगा कि टैक्स बचाने के लिए कहां निवेश करें। इसलिए आयकर घटाकर छूट खत्म करने की व्यवस्था की गई है।

एक तरफ देश में NRC और CAA को लेकर बवाल चल रहा है। लेकिन इन सबके बीच मोदी सरकार अपने नए कार्यकाल का पहला पूर्ण बजट पेश किया जाएगा।

आर्थिक मोर्च पर आलोचनाओं का सामना कर रही है मोदी सरकार शनिवार को कुछ बड़े फैसले कर सकती है। दरअसल वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण शनिवार दोपहर के एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करने जा रही है।

माल्या ने अपने हालिया पेशकश के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के लोकसभा में दिए बयान का हवाला दिया है । माल्या ने ट्वीट में वित्त मंत्री के संसद में दिए बयान के हवाले से लिखा, "इस देश (भारत) में कारोबार की विफलता को अभिशाप नहीं माना जाना चाहिए । न ही उसे गिरा हुआ समझा जाना चाहिए ।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में बजट पेश कर रही हैं। बतौर पूर्णकालिक वित्त मंत्री बजट पेश करने वालीं वह देश की पहली महिला हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण के दौरान एक शेर भी पढ़ा। निर्मला ने कहा, 'यकीन हो तो कोई रास्ता निकलता है, हवा की ओट भी ले कर चराग जलता है'।

देश की आर्थिक सेहत देखने के लिए आर्थिक सर्वे की मदद ली जाती है। अर्थव्यवस्था को कितनी हानि हुई या कितना लाभ मिला, इसका पता भी आर्थिक सर्वे से चलता।