nirmala sitharaman

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज 2 जुलाई को सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के सीईओ के साथ करेंगी बैठक। बैठक में बैंकों के वित्तीय प्रदर्शन की समीक्षा की जाएगी और अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए कर्ज में वृद्धि के उपायों पर चर्चा की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि फरवरी में पेश 2019-20 को पेश अंतरिम बजट अनुमान की तुलना में शुक्रवार 5 जुलाई को पेश पूर्ण बजट में 6,000 करोड़ रुपये अधिक राजस्व की प्राप्ति का अनुमान लगाया गया है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्त वर्ष का आम बजट शुक्रवार को लोकसभा में पेश किया। वित्त मंत्री ने कहा कि 1, 2, 5, 10 और 20 रुपये के नए सिक्के आएंगे। ये सिक्के दृष्टिबाधित लोग भी आसानी से पहचान पाएंगे। ये सिक्के 7 मार्च 2019 को जारी किए गए थे। अब ये आम जनता के लिए जल्द उपलब्ध होंगे।

सरकार ने मौजूदा वित्त वर्ष के लिये एक फरवरी को पेश किये गए अपने अंतरिम बजट में लोकपाल के लिये वर्ष 2018-19 में निर्धारित 4.29 करोड़ रुपये की राशि में फेरबदल नहीं किया था।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को संसद में बजट पेश किया। इस मौके पर उन्होंने गांव, गरीब और किसान की बात की। साथ ही बजट में महिला पर विशेष जोर दिया गया है। उन्होंने 'नारी तू नारायणी' को सरकार का नया नारा बताते हुए महिलाओं को आर्थिक तौर पर मजबूती देने के लिए कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की हैं।

बजट 2019 में इलेक्ट्रिक कारों को बढ़ावा देने के लिए कदम उठाएं हैं। इलेक्ट्रिक कारों को लोकप्रिय बनाने के लिए सरकार ने इन पर जीएसटी की दरों में कटोती की है। साथ ही, इलेक्ट्रिक कार खरीदने पर इनकम टैक्स में भी छूट दी जाएगी।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को संसद में बजट पेश किया। इस मौके पर उन्होंने गांव, गरीब और किसान की बात की। वित्त मंत्री ने बताया कि किसानों और ग्रामीण भारत के लिए सरकार ने अबतक क्या किया है और आगे उसकी क्या योजनाएं हैं।

इलेक्ट्रिक मोबिलिटी, सोलर सेक्टर पर बजट में विशेष बल दिया गया है। पर्यावरण का ख्याल रखा गया है। यह बजट स्थायी विकास को ध्यान में रखते हुए पेश किया गया है।- पीएम नरेंद्र मोदी

देश की पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज संसद में मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला पूर्ण बजट पेश करेंगी। यह निर्मला सीतारमण का भी पहला बजट है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शुक्रवार को लोकसभा में पेश किए गए वित्त वर्ष 2019-20 के अपने बजट भाषण में कहा कि हालिया चुनाव में एक आकर्षक और मजबूत भारत की उम्मीदें लहरा रही थीं और लोगों ने एक ऐसी सरकार को चुना जिसने काम कर के दिखाया।