Nizamuddin Markaz case

दिल्ली से एक बड़ी खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि तबलीगी जमात मामले में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम ने मरकज के मुखिया मौलाना साद के 5 करीबियों के पासपोर्ट जब्त कर लिए हैं। उन पर पहले से ही मुकदमा दर्ज है। 

तबलीगी मरकज के मुखिया मौलाना साद पर क्राइम ब्रांच का शिकंजा लगातार कसता जा रहा है। क्राइम ब्रांच की टीम मरकज की सारी गतिविधियां और उसके बैंक खातों से हुए आर्थिक लेनदेन की गहराई से पड़ताल करने में जुटी है।

तबलीगी जमात के प्रमुख मौलाना साद इन दिनों गायब हैं, जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की तलाश जारी है। इस बीच मौलाना साद के राजदार मौलाना मुफ्ती शहजाद ने बताया मरकज काण्ड को लेकर जानकारियां दी।

निजामुद्दीन में हुए मजहबी जलसे में शामिल कुछ लोगों की कोरोना से मौत और कई के संक्रमित होने के बाद अचानक से तबलीगी जमात सुर्खियों में आ गया है। इसी के साथ जमात के लिए विदेश से आने वालों की एक चालबाजी भी पकड़ी गई है।