noida

जिस ट्यूब में व्यक्ति का स्वैब का सैंपल लेकर प्रयोगशाला तक भेजा जाता है, उसकी डिमांड निरंतर बढ़ती जा रही है। इसे वायरल ट्रांसपोर्ट मीडियम (वीटीएम) किट कहा जाता है।

फैक्टरी मालिक अपने व्यवसाय के भविष्य को लेकर असुरक्षा से गुजर रहे हैं। सभी ऑर्डर विदेशी खरीदारों द्बारा रद्द किए जा रहे हैं। तैयार किए गए शिपमेंट को तब तक निर्यात नहीं किया जा सकता जब तक कि स्थानीय प्रशासन उन्हें ऑपरेशन शुरू करने की अनुमति नहीं देता।

तमाम प्रयासों के बावजूद जिले में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब जिले के स्वास्थ्यकर्मी भी वायरस की चपेट में आने लगे है। शनिवार को जिला अस्पताल की वार्ड आया, चाइल्ड पीजीआई की कुक समेत 6 स्वास्थ्य कर्मियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव मिली।

तमाम प्रयासों के बावजूद जिले में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब जिले के स्वास्थ्यकर्मी भी वायरस की चपेट में आने लगे हैं।

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर नोएडा में दिल्ली से लगने वाली सीमाओं को सील कर दिया गया है। जिला प्रशासन ने एक आदेश जारी कर इस बात की जानकारी दी है।

कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए प्राधिकरण भाप (पानी और सेनेटाइजर) तकनीक का प्रयोग करेगा। इस तकनीक के जरिए आफिसों व इमारतों के अंदर कमरों को सैनेटाइज किया जा सकता है। यह कार्य फायर टेंडर द्वारा मुश्किल है।

नोएडा में कोविड-19 संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए 30 स्थानों को हॉटस्पॉट के रूप में चिन्हित किया गया है। इन सभी स्थानों को सील कर दिया गया है। अब तक जनपद में 97 मरीज कोविड-19 के संक्रमित मिले है। इसमे से 38 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं।