nrc

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के घंटाघर पर 17 जनवरी यानी 66 दिन से नागरिकता कानून(सीएए) के खिलाफ चल रहा महिलाओं का धरना प्रदर्शन खत्म हो गया है।

कई महीनो से उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में CAA और NRC के विरोध में चल रहे प्रदर्शन को लेकर अब नई खबर आ रही है।

शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के चलते स्‍थानीय दुकानदारों ने पुलिस के आला अधिकारियों से मुलाकात की है।

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने राजधानी लखनऊ के सीएए-एनआरसी विरोधी आंदोलनकारियों की तस्वीरों को सरकार द्वारा चैराहों पर लगाए जाने को गैर कानूनी बताते हुए इसे अपने विरोधियों के चरित्र हनन की आपराधिक और षड्यंत्रकारी राजनीति करार दिया है।

देश में CAA के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन से सब लोग वाकिफ है, हर तरफ इसे लेकर बवाल चल रहा है।

CAA के खिलाफ विरोध प्रदर्शन को लेकर इंडियन मुस्लिम लीग के नेता द्वारा हाई कोर्ट में दायर याचिका को मध्य प्रदेश हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया।

एनआरसी व एनपीआर पर बिहार में नीतीश कुमार द्वारा सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास कराए जाने के बाद जाति अधारित जनगणना पर नीतीश के फैसले को एक बड़े फैसले के तौर पर देखा जा रहा है।

विश्व हिन्दू परिषद का शीर्ष नेतृत्व भले ही दावा करे कि वह किसी राजनैतिक दल से नाता नहीं रखता हो और वह शुद्ध रूप से हिन्दू समाज के हित के लिए देश में अलख...

नागरिकता संशोधन कानून के नाम पर दिल्ली में हुई हिंसा में अबतक 22 लोगों की मौत हो चुकी है। बुधवार को दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बलों ने हिंसा प्रभावित...

पूरे देश में CAA और NRC को लेकर बवाल मचा है। अब NRC को लेकर नई ख़बर बिहार विधानसभा से आ रही है। बिहार विधानसभा में NRC न लागू करने का प्रस्ताव पास हो गया