Om Birla

देश की विधानसभाओं में होने वाले हंगामे के कारण समय बर्बादी को रोकने के लिए गठित की गयी समिति की एक बैठक वीडियो कांफेंसिंग के माध्यम से आज सम्पन्न हुई।

देश में अब एक ऐसा तंत्र विकसित किया जाएगा जिसमें देश की सभी विधानमंडलों को एक प्लेटफार्म पर लाया जा सकेगा। इसके लिए केन्द्र में एक कमेटी का गठन किया गया है जो इस दिशा में लगातार काम कर रही है। जल्द ही इसके सार्थक परिणाम जनता के सामने आएंगे

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने कहा कि किसानों की अर्थव्यवस्था में परिवर्तन के लिए किसान के उत्पादन को अंतरराष्ट्रीय पहचान देनी होगी तभी किसानों को उसके उत्पाद का उचित लाभ मिल सकेगा।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने बजटीय प्रस्तावों की समीक्षा के संबंध में विधायकों की 'क्षमता निर्माण' का उल्लेख करते हुए कहा कि बजट सरकार का सबसे महत्वपूर्ण आर्थिक नीति उपकरण है और बजट पर संसद और विधान सभाओं में सार्थक और उपयोगी चर्चाएं हो सकें।

ओम बिरला नामक की शख्सियत आज किसी परिचय की मोहताज नहीं है। लोकसभा अध्यक्ष के पद पर आसीन ओम बिरला का आइए जानते हैं कि यहां तक का सफर कैसा रहा और उनमें ऐसी क्या खासियतें थीं जिनके चलते वह मोदी के प्रिय लोगों में शुमार हो गए। ये शख्स कोई बहुत बड़ा हाई फाई नेता नहीं है न ही यह व्यक्ति कभी कहीं मंत्री पद पर आसीन रहा है। राजस्थान के कोटा के बूंदी से जुड़ा यह आदमी अपने क्षेत्र में भी नेता कम एक समाज सुधारक के रूप में अधिक जाना जाता है।

बीजेपी सांसद ओम बिड़ला ने लोकसभा अध्यक्ष के तौर पर बुधवार को जिम्मेदारी संभाल ली। बीजेपी ने इस बार अनुभव को तरजीह न देते हुए दूसरी बार के सांसद ओम बिड़ला को स्पीकर बनाया है।

भाजपा सांसद और राजग उम्मीदवार ओम बिड़ला को बुधवार को सर्वसम्मति से लोकसभा अध्यक्ष चुन लिया गया। पद संभालने के बाद उन्होंने कहा कि वह निष्पक्षता के साथ सदन चलाएंगे और कम संख्या वाले दलों को भी पर्याप्त समय दिया जाएगा।