pangong lake

लद्दाख की गलवानी घाटी में जून में भारतीय और चीनी सैनिकों की हिंसक झड़प के बाद से ही दोनों देशों के बीच तनाव है। अब इस बीच एक बार फिर चीन ने भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश की है।

31 अगस्त यानी सोमवार को एक बार फिर पैंगोंग त्सो झील के पास चीनी जवानों और भारतीय सैनिकों के बीच मारपीट हो गई। बताया जा रहा है कि चीनी सैनिकों ने एलएसी पर भारतीय सीमा पर घुसपैठ की कोशिश की थी, जिसे देश के जाबांज जवानों ने नाकाम कर दिया।

भारत और चीन के बीच तनातनी के चलते आज काफी बीत गए हैं। भारत ने चीन की मांग को भी खारिज कर दिया है, जिस मांग में चीन ने कहा- दोनों सेनाएं समान दूरी तक पीछे हटें। भारत से चीन की ये मांग है कि पू्र्वी लद्दाख के पैंगोंग शो इलाके में भारत की सेना उतनी ही पीछे हटे जितनी चीनी सेना हटेगी।

लद्दाख में LAC पर जारी डिसएंगेजमेंट प्रक्रिया के दौरान चीन ने केंद्र में स्थित पैगॉन्ग झील से अपने सैनिक हटाने से इनकार कर दिया है।

LAC पर चीन की एक और साजिश का खुलासा हुआ है। दोनों पक्षों में डिसएंगेजमेंट पर सहमति बनने के बाद भी चीन ने पैंगॉन्ग झील में अपनी तैनाती बढ़ाई है।

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच अभी भी सीमा पर तनाव जारी है। हालांकि भारतीय और चीनी सेना के कोर कमांडर्स के बीच हुई बैठक के बाद चीन कई इलाकों से पीछे हटने पर सहमत हो गया है, लेकिन अभी भी कुछ ऐसे इलाके हैं, जहां पर चीन बना रहना चाहता है। पैंगोंग लेक …

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार को दो दिवसीय दौरे पर लद्दाख पहुंचे हैं। आज रक्षा मंत्री लेह के स्टकना में पहुंचे हैं। यहां पर पैरा कमांडोज ने राजनाथ सिंह के सामने शानदार प्रदर्शन किया।

बीते कई हफ्तों से भारत और चीन के बीच सीमा पर चल रहा विवाद अब कम होता दिखाई दे रहा है। ये राहत की खबर सोमवार को लाइन ऑफ एक्च्यूअल कंट्रोल से मिली  है।

सीमा विवाद को सुलझाने के लिए दोनों देशों के बीच बातचीत चल रही है, लेकिन चीन की गतिविधियां देखते हुए भारत हर तरह से सतर्क और किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहना चाहता है।

लद्दाख में सीमा पर कई जगहों पर भारत और चीन के सैनिक आमने सामने हैं। हाल ही में कुछ सैटेलाइट तस्वीरों में पता चल रहा है कि चीन ने सीमा पर 1000 सैनिक तैनात कर दिए हैं।