PF

पीएफ खाताधारकों के लिए अच्छी खबर है। अब पीएफ को लेकर किसी भी समस्या के लिए पीएफ कार्यालय के चक्‍कर लगाने से छुटकारा मिलने वाला है।

अगस्त के महीने का आगाज हो गया है। नया महीना आते ही कई नियम बदल जाते हैं। ऐसे में इस बार भी एक जरूरी बदलाव हुआ है, जिसका सीधा कनेक्शन आपकी सैलरी से है।

पीएम मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में गरीबों, मजदूरों और कर्मचारियों को ध्यान में रखते हुए कई अहम फैसले लिए गए हैं। इस बैठक में 24 प्रतिशत ईपीएफ सहायता को अगस्त तक बढ़ाने का फैसला किया गया है।

इस बैठक में नौकरीपेशा लोगों के लिए ईपीएफ पर बड़ा फैसला हो सकता है। सरकार ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए शुरू किए लॉकडाउन में लोगों को कैश की दिक्कत न हो, इसलिए सरकार ने PF का पैसा निकालने की अनुमति दी थी।

कोरोना वायरस संकट के बीच मोदी सरकार ने लोगों को आर्थिक सहायता पहुंचाने के लिए PF जुड़े नियमों में छूट देने की घोषणा की है। EPFO ने PF खातों से पैसे निकालने वाले सब्सक्राइबर्सर को बड़ी राहत दी है।

केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को अपने प्रॉविडेंट फंड (Provident Fund) का एक तय हिस्सा निकालने की छूट दी। सरकार के नोटिफिकेशन दारी करने के बाद कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने इसके लिए अपनी तैयारियां पूरी कर लीं।

लॉकडाउन के बीच कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने अपने सब्सक्राइबर में पिछले 15 दिन में करीब 946 करोड़ रुपये वितरित कर दिए हैं। दरअसल...

कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते संक्रमण की वजह से देश में 3 मई तक का लॉकडाउन कर दिया गया है। तो इन परिस्थितियों में अगर आपको पैसों की जरूरत है, तो आपको बड़ी मतलब की खबर आई है।

किसी भी कंपनी में काम करने वाली कर्मचारी की सैलरी कई हिस्सों में बंटी होती है जैसे बेसिक सैलरी, ट्रैवल अलाउंस, स्पेशल अलाउंस वगैरह। पीएफ  में हर महीने कर्मचारी की बेसिक सैलरी से 12% पैसा काटकर पीएफ के खाते में डाल दिया जाता है।

केंद्र सरकार ने स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स में निवेश करने वालों को मंगलवार को तगड़ा झटका दिया है। वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) के लिए...